राजस्थान में सरकारी अधिकारियों के यहां ACB की छापेमारी, घर में मिली मर्सिडीज, महंगी विदेशी शराब की बोतलें

Last Updated: शुक्रवार, 2 जुलाई 2021 (11:20 IST)

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) की अलग-अलग टीमों ने आज चार अफसरों पर कार्रवाई के लिए जयपुर, जोधपुर और चित्तौड़गढ सहित करीब 14 जगहों पर छापेमारी की। यह पूरा मामला आय से अधिक संपत्ति का बताया जा रहा है। तीन अफसरों के घरों से सर्च की कार्रवाई में कीमती संपत्ति का हिसाब-किताब और दस्तावेज बरामद हुए हैं। इसके बाद एसीबी ने चारों अफसरों के खिलाफ अलग-अलग मुकदमे भी दर्ज किए हैं। एसीबी की कार्रवाई से फिलहाल हडकंप मचा हुआ है।

इन अफसरों में जोधपुर में सूरसागर थाने में पदस्थापित पुलिस इंस्पेक्टर प्रदीप शर्मा, जयपुर में जेडीए में एक्सईएन, चित्तौड़गढ में डीटीओ मनीष शर्मा और बाड़मेर में परिवहन अधिकारी और एक ट्रैवल संचालक शामिल है।


एसीबी के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि ब्यूरो की खुफिया शाखा की गोपनीय सूचना के आधार पर ब्यूरो ने अधिकारियों के खिलाफ आय से अधिक परिसंपत्तियां अर्जित करने के तीन अलग-अलग प्रकरण दर्ज कर एक दर्जन से भी अधिक स्थानों पर छापेमारी की।

सोनी ने बताया कि जेडीए के अधिशाषी अभियंता गोयल द्वारा अपने सेवाकाल में खर्च व परिसंपत्तियों पर लगभग 6 करोड़ रुपए का निवेश करने पाया गया है जो उनकीवैध आय पर लगभग 1450 प्रतिशत अधिक होने का अनुमान है।


गोयल के जयपुर के माध्यम मार्ग स्थित निवास पर टीम ने विदेशी व महंगी शराब की 23 बोतलें, 2000 डॉलर और 245 यूरो की विदेशी मुद्रा, 2,27,790 रुपए नकद, दो कार, 1100 गज के कुल दो भूखंड, डीग में एक हवेली के कागजात, दो लॉकर की चाबी, 318 ग्राम सोना व 3.5 किलोग्राम चांदी तथा अन्य संपत्ति के कागजात मिले हैं।

एसीबी की दूसरी टीम ने गोयल के मानसरोवर स्थित निवास पर तलाशी ली और यहां एक लग्जरी कार, 1.60 लाख नकद, 323.8 ग्राम सोना व 4.4 किलोग्राम चांदी, एक लॉकर चाबी बरामद हुई। वहीं तीसरी टीम ने गोयल के मानसरोवर में मौजूद फार्म हाउस से एक मर्सडीज कार, एक बोलेरो कैम्पर, भव्य फार्म हाउस, सुख सुविधाओं युक्त मय लग्जरी आवास, विदेशी शराब की खाली बोतलें और महंगे पड़े पौधें मिले। जबकि चौथी टीम को जेडीए जयपुर ऑफिस से हिसाब किताब की डायरियां मिली हैं।

पुलिस निरीक्षक प्रदीप कुमार शर्मा के सूरसागर जिला जोधपुर, भोपालगढ व बीकानेर चार स्थानों पर छापेमारी चल रही है। शर्मा द्वारा अपने सेवाकाल में खर्च व परिसंपत्तियों पर लगभग 4.43 करोड़ का निवेश पाया गया है, जो उनकी वैध आय का 33 प्रतिशत अधिक है। टीम के शर्मा द्वारा 10 बीघा परिसर में स्कूल, लगभग 22000 वर्गफुट का निर्माण व फर्नीचर आदि मिला।



जानकारी के लिए बता दें कि, परिवहन अधिकारी मनीष कुमार शर्मा द्वारा अपने सेवाकाल में खर्च व परिसंपत्तियों पर 1.84 करोड़ रुपए का निवेश करना पाया गया, जो उनकी वैध आय से 232 प्रतिशत अधिक होने पर अनुमान है। ब्यूरो की पांच टीमें शर्मा के छह स्थानों की तलाशी जारी है और इसमें पहली टीम का शर्मा के चित्तौड़गढ में मौजूद फ्लैट की तलाशी में नकद 99500 रुपए, एक इनफील्ड बाईक, एक एसयूवी कार, विदेशी यात्राओं से संबंधित दस्तावेज मिले हैं। उनका उदयपुर व जयपुर से एक एक फ्लैट को सिल किया गया है।



और भी पढ़ें :