नन्हे बच्चों को कभी नहीं खिलानी चाहिए ये 5 चीजें, Toddler Diet Tips


छोटे बच्चे जब तक बोलने, चलने और समझने में सक्षम नहीं हो जाते हैं उनके खानपान का ध्यान रखना जरूरी होता है। अक्सर खुशी-खुशी में बच्चों को अनहेल्थी चीजें भी खिला दी जाती है। इतना ही नहीं कई बार ऐसा भी सोचना होता कि अच्छा खिला कर देखते हैं बच्चा कैसे रिएक्ट करता है। लेकिन ऐसे में उन्हें कुछ भी हो सकता है पर वह बोल नहीं पाएंगे। तो आइए जानते हैं छोटे बच्चों को क्या 5 चीजें हैं जो भूलकर भी नहीं खिलाना चाहिए-
1.मसालेदार आयटम- बच्चों को टाइम के साथ मसाला दिया जाता है। लेकिन अक्सर जल्दबाजी में उन्हें तीखा थोड़ा-थोड़ा देने लग जाते हैं। लेकिन ऐसा करने पर बच्चा हार्टबर्न, अपच और एसिड रिफ्लक्स जैसी बीमारी से परेशान हो सकता है।

2.कैंडीज- कैंडीज जरूर मीठी होती है लेकिन बच्चों को कैंडीज नहीं खिलाएं जब तक उनके दांत नहीं आ जाते हैं। कहा जाता है कि कैंडिज में कन्फेकशनरी की मात्रा ज्यादा होती है। जिससे बच्चों का बचपन में शुगर इनटेक बढ़ जाता है। इसलिए जब तक वह 4 साल से अधिक आयु के नहीं हो जाते उन्हें अनहेल्दी चीजें नहीं दें।
3.सॉफ्ट ड्रिंक- सॉफ्ट ड्रिंक से सही है हाजमा हजम हो जाता है। छोटे बच्चों को खुशी में इस तरह की ड्रिंक नहीं दें। सॉफ्ट ड्रिंक में चीनी की काफी अधिक मात्रा होती है। वह बच्चों के विकास में परेशानी का कारण बन सकती है।

4.फल और सब्जी- कच्ची सब्जी शरीर को फायदा करती है लेकिन वह बच्चों के लिए उपयुक्त नहीं है। बच्चों को सब्जियां हमेशा उबालकर ही खिलाएं। ताकि वह आसानी से पचा सके। और उन्हें किसी तरह के इंफेक्शन का खतरा भी नहीं होगा। फल की बात की जाएं तो फलों को भी बारीक चॉप करके ही खिलाएं।
5.अंडे- कहा जाता है करीब 6 महीने बाद बच्चों को अंडे खिलाएं जा सकते हैं लेकिन भूलकर भी ऐसा नहीं करें। 6 महीने का बच्चा बहुत नाजुक होता है। डॉक्टर की सलाह से ही इस तरह के फूड आयटम बच्चों को खिलाएं। अंडा देने से बच्चे को इंफेक्शन का खतरा भी बढ़ सकता है।

नोट: यह एक सामन्य जानकारी है। बच्चों के खानपान की शुरुआत डॉ. की सलाह से ही करें।




और भी पढ़ें :