महाराष्ट्र में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से मुश्किल में देवेंद्र फडणवीस सरकार

Author विकास सिंह| Last Updated: मंगलवार, 26 नवंबर 2019 (11:04 IST)
महाराष्ट्र मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला देवेंद्र फडणवीस सरकार के लिए बड़ा झटका और विपक्षी के लिए बड़ी राहत माना जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने फ्लोर टेस्ट के लिए विधानसभा का सत्र बुधवार सुबह बुलाने और शाम 5 बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने के निर्देश दिए है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में फ्लोर टेस्ट के लिए जिन निर्दशों को दिया वह विपक्षी गठबंधन के लिए बड़ी राहत माना जा रहा है।

ALSO READ:के सियासी संग्राम पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, 27 नवंबर को होगा फ्लोर टेस्ट

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में बहुमत परीक्षण का सीधा प्रसारण (लाइव टेलिकॉस्ट) कराने और विधायकों के शपथ ग्रहण के ठीक बाद प्रोटेम स्पीकर की अध्यक्षता में ही बहुमत परीक्षण का टेस्ट कराने का आदेश दिया है। परंपरा के हिसाब से प्रोटेम स्पीकर विधानसभा का सबसे सीनियर सदस्य होता है और ऐसे में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोराट भी प्रोटेम स्पीकर के दौड़ में सबसे आगे दिखाई दे रहे है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि संविधान दिवस पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से संविधान की रक्षा हुई है।




और भी पढ़ें :