दिल्ली लोकसभा चुनाव 2019 परिणाम

Nct of delhi(7/7)

PartyLead/WonChange
AAP0--
BJP7--
CONGRESS0--
OTHERS0--
प्रमुख प्रतिद्वंदी : चांदनी चौक : डॉ. हर्षवर्धन (भाजपा), पंकज गुप्ता (आप), जेपी अग्रवाल (कांग्रेस)
पूर्वी दिल्ली : गौतम गंभीर (भाजपा), आतिशी (आप), अरविंदर लवली (कांग्रेस)
नई दिल्ली : श्रीमती मिनाक्षी लेखी (भाजपा), बृजेश गोयल (आप), अजय माकन (कांग्रेस)
उत्तर-पूर्व दिल्‍ली : मनोज तिवारी (भाजपा), दिलीप पांडे (आप), श्रीमती शीला दीक्षित (कांग्रेस)
उत्तर पश्चिम दिल्ली (एससी) : हंसराज हंस (भाजपा), गुग्‍गन सिंह (आप), राजेश लिलोथिया (कांग्रेस)
दक्षिण दिल्ली : रमेश बिधूड़ी (भाजपा), राघव चड्ढा (आप), विजेंद्र सिंह (कांग्रेस)
पश्चिम दिल्ली : प्रवेश वर्मा (भाजपा), बलबीर सिंह (आप), महाबल मिश्रा (कांग्रेस)

State Name
Constituency AAPBJPCongressOthersComments
NCT of Delhi
Chandni ChowkPankaj Gupta Dr. Harshvardhan J P Agarwal -- wins
East DelhiAtishi Gautam Gambhir Arvinder Singh Lovely -- BJP wins
New DelhiBrijesh Goyal Smt. Minakshi Lekhi Ajay Maken -- BJP wins
North East DelhiDilip Pandey Manoj Tiwari Smt. Sheila Dikshit -- BJP wins
North West Delhi(SC)Guggan Singh Hansraj Hans Rajesh Lilothia -- BJP wins
South DelhiRaghav Chadha Ramesh Bidhuri -- -- BJP wins
West DelhiBalbir Singh Jakhar Pravesh Verma Mahabal Mishra -- BJP wins


परिचय : दिल्ली में सभी सातों सीटों पर लोकसभा चुनाव की सरगर्मी जोरों पर है। इस बार भी भाजपा इन संसदीय क्षेत्रों की सभी सीटों को जीतने के लिए पूरा दमखम लगा रही है, वहीं दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस के उम्‍मीदवार भी अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं।

दिल्ली लोकसभा चुनाव 2014 में चांदनी चौक संसदीय सीट से भाजपा के डॉ. हर्षवर्धन ने आम आदमी पार्टी के आशुतोष और कांग्रेस के दिग्गज नेता कपिल सिब्बल को हराया था। पूर्वी दिल्ली से भाजपा के महेश गिरि आप के राजमोहन गांधी को शिकस्त देकर इस संसदीय क्षेत्र से विजयी हुए थे।

नई दिल्ली से भाजपा की मीनाक्षी लेखी आप के ही आशीष खेतान को हराकर संसद पहुंची थीं। उत्तर-पूर्व दिल्‍ली से भाजपा के मनोज तिवारी ने आम आदमी पार्टी के आनंद कुमार और कांग्रेस के जयप्रकाश अग्रवाल को पराजित कर यह सीट हासिल की थी। उत्तर-पश्‍चिम दिल्‍ली से भाजपा के उदित राज ने आप की उम्‍मीदवार राखी बिरला और कांग्रेस की कृष्णा तीरथ को शिकस्त देकर यहां कमल खिलाया है।

दक्षिण दिल्ली से भाजपा के रमेश बिधूड़ी ने आप के देवेंद्र कुमार शेरावत और कांग्रेस के रमेश कुमार को पराजित यह सीट हासिल की थी। इसी तरह पश्‍चिम दिल्‍ली से भाजपा के ही प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने लोकसभा चुनाव 2014 में आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार जनरैल सिंह को परास्‍त कर विजयी हुए थे।

यमुना नदी किनारे बसे अति प्राचीन शहर दिल्‍ली का इतिहास गौरवशाली रहा है। यह एक केंद्र शासित प्रदेश होने के साथ ही देश की राजधानी भी है। मुंबई के बाद यह देश का दूसरा सबसे बड़ा महानगर है। माना जाता है कि देहली का एक विकृत रूप चौखट के कारण भी इसे दिल्‍ली कहा जाता है। इसे 'दिल वालों' का शहर भी कहते हैं।

हालांकि महाभारत काल में इसका नाम इंद्रप्रस्थ था। यह शहर अपने शानदार पर्यटन स्थलों, मनोरंजक सुविधाओं और ऐतिहासिक इमारतों, जिनमें मुख्‍य रूप से लाल किला, इंडिया गेट, जामा मस्जिद और कुतुबमीनार के कारण विश्‍वभर में प्रसिद्ध है। कहा जाता है कि यह शहर सात बार उजड़ा और नए स्‍थानों पर स्‍थापित हुआ।

सन 1947 में स्वतंत्रता के बाद इसने विकास के अनेक आयामों को छुआ है। आज यह देश का एक प्रमुख राजनीतिक, सांस्कृतिक एवं वाणिज्यिक केंद्र है।

जनसंख्‍या : जनसंख्या के आधार पर यह देश का दूसरा सबसे बड़ा महानगर है। साल 2011 की जनगणना के अनुसार, यहां की कुल जनसंख्या एक करोड़ 67 लाख 87 हजार 941 है। इसमें पुरुषों की संख्या 89 लाख 87 हजार 326 और महिलाओं की संख्या 78 लाख 615 है।

अर्थव्यवस्था : यह शहर पूरे उत्तर भारत में व्यापार और व्यवसाय का केंद्र है। सरकारी कार्यालय रोजगार के प्रमुख स्रोत हैं। सेवा क्षेत्र यहां का प्रमुख उद्योग है, जिसका यहां की अर्थव्‍यवस्‍था में बड़ा योगदान रहता है। हालांकि यहां अन्‍य उद्योग भी तेजी से उभर रहे हैं। इनके अलावा बड़ी संख्या में निजी, सरकारी और उच्च शिक्षा स्कूल भी हैं, जो लाखों छात्रों को शिक्षा मुहैया कराते हैं। यह शहर देश का सबसे बड़ा सॉफ्टवेयर निर्यातक होने के साथ ही कई बहुराष्‍ट्रीय कंपनियों के कार्यालय यहां मौजूद हैं। नेहरू प्लेस और कनॉट प्‍लेस यहां के प्रमुख व्यावसायिक केंद्र हैं, जो कि व्‍यस्‍ततम इलाके के रूप में जाने जाते हैं। 'इंडिया एक्सपो सेंटर' यहां कई महत्वपूर्ण प्रदर्शनियां आयोजित करता है।

भौगोलिक स्थिति : यमुना नदी किनारे स्थित 1483 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला यह शहर अपनी उत्तरी, दक्षिणी और पश्चिमी सीमा पर हरियाणा और पूर्व में उत्तर प्रदेश से घिरा हुआ है। यह शहर संपूर्ण देश से हवाई, सड़क और रेल मार्ग से जुड़ा हुआ है। मानसून की तेज बारिश यहां सफाई का काम करती है। आमतौर पर उत्तर-पश्चिमी हवाएं प्रबल रहती हैं, हालांकि जून और जुलाई में दक्षिण-पूर्वी हवाएं तेज रहती हैं।

16वीं लोकसभा में क्षेत्रवार स्थिति :
चांदनी चौक : भाजपा के डॉ. हर्षवर्धन यहां सांसद हैं। उन्‍होंने लोकसभा चुनाव 2014 में इस संसदीय सीट से आम आदमी पार्टी के आशुतोष और कांग्रेस के दिग्गज नेता कपिल सिब्बल को हराकर यह जीत हासिल की है।

नई दिल्ली : भाजपा की मीनाक्षी लेखी यहां सांसद हैं। वे लोकसभा चुनाव 2014 में इस संसदीय सीट से आम आदमी पार्टी के आशीष खेतान को हराकर विजयी हुई हैं।
पूर्वी दिल्ली : भाजपा के महेश गिरि यहां सांसद हैं। वे लोकसभा चुनाव 2014 में आम आदमी पार्टी के राजमोहन गांधी को शिकस्त देकर इस संसदीय क्षेत्र से विजयी हुए हैं।

पश्‍चिम दिल्‍ली : भाजपा के प्रवेश साहिब सिंह वर्मा यहां सांसद हैं। उन्‍होंने लोकसभा चुनाव 2014 में इस संसदीय सीट से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार जनरैल सिंह को पराजित कर यह जीत हासिल की है।

दक्षिण दिल्ली : भाजपा के रमेश विधूड़ी यहां सांसद हैं। वे लोकसभा चुनाव 2014 में आम आदमी पार्टी के देवेन्द्र कुमार शेरावत और कांग्रेस के रमेश कुमार को पराजित कर इस सीट से विजयी रहे।

उत्तर-पूर्व दिल्‍ली : भाजपा के मनोज तिवारी यहां सांसद हैं। उन्‍होंने लोकसभा चुनाव 2014 में आम आदमी पार्टी के आनंद कुमार और कांग्रेस के जयप्रकाश अग्रवाल को पराजित कर यह सीट हासिल की है।

उत्तर-पश्‍चिम दिल्‍ली : भाजपा के उदित राज यहां सांसद हैं। वे लोकसभा चुनाव 2014 में आम आदमी पार्टी की उम्‍मीदवार राखी बिरला और कांग्रेस की कृष्णा तीरथ को शिकस्त देकर इस संसदीय सीट पर विजयी हुए हैं।

दिल्ली के बारे में : दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला है। पिछले चुनाव में भाजपा सभी सीटें जीतने में सफल रही थी। इस बार लोकसभा चुनाव में भाजपा के मनोज तिवारी, डॉ. हर्षवर्धन, क्रिकेटर गौतम गंभीर, हंसराज हंस, मीनाक्षी लेखी मैदान में हैं, वहीं कांग्रेस ने बुजुर्ग नेता शीला दीक्षित, अजय माकन, अरविन्दर सिंह लवली जैसे नेताओं को उतारा है। आम आदमी पार्टी ने राघव चड्‍ढा, दिलीप पांडे और आतिशी पर दांव लगाया है।

 

और भी पढ़ें :