VVPAT मामले में कांग्रेस नेता उदित राज का सवाल, क्या सुप्रीम कोर्ट भी धांधली में शामिल है?

पुनः संशोधित बुधवार, 22 मई 2019 (12:07 IST)
नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आने में एक दिन पहले भाजपा छोड़कर हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए ने विवाद में को भी घसीट लिया। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट पर विवादास्पद टिप्पणी करते हुए कहा कि सप्रीम कोर्ट क्यों नहीं चाहता कि की सारी पर्चियों को गिना जाए। क्या वह भी इस धांधली में शामिल है?
कांग्रेस नेता उदित राज ने ट्वीट किया, 'सप्रीम कोर्ट क्यों नहीं चाहता की VVPAT की सारी पर्चियों को गिना जाए क्या वो भी धांधली में शामिल है। चुनावी प्रक्रिया में जब लगभग तीन महीने से सारे सरकारी काम मंद पड़े हुए हैं तो गिनती में 2-3 दिन लग जाएं तो क्या फ़र्क़ पड़ता है।'

इससे एक दिन पहले ही उन्होंने चुनाव आयोग को कटघरे में खड़ा करते हुए ट्वीट किया था, 'BJP को जहां-जहां EVM बदलनी थी बदल ली होगी इसीलिए तो चुनाव सात चरणों में कराया गया। और आप की कोई नहीं सुनेगा चिल्लाते रहिए, लिखने से कुछ नहीं होगा, रोड पर आना पड़ेगा। अगर देश को इन अंग्रेजों के गुलामों से बचाना है तो आंदोलन करना पड़ेगा साहब। चुनाव आयोग बिक चुका है।'
धीरज कुमार ने ट्विटर पर उन्हें जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस ज्वाइन किए हुए अभी दो दिन भी नहीं हुए और गुलामी का स्तर इतना ऊंचा हो गया कि अपने मालिकों के लिए सुप्रीम कोर्ट को भी दोषी सिद्ध कर रहे हो।

पंकज शर्मा ने उदित राज के बयान पर नाराजगी जताते हुए कहा कि कोई तो व्यवस्था होनी चाहिए, ऐसे लोगों के इलाज के लिए जो कभी चुनाव आयोग पर प्रश्न चिह्न लगाते हैं, कभी सुप्रीम कोर्ट पर, कभी सेना पर, किसी पर भी। भैया अभी तो सिर्फ एग्जिट पोल ही आया है। इतना भी गंद न फैलाएंं।

 

और भी पढ़ें :