कांग्रेस को मध्यप्रदेश में 'ऑपरेशन लोटस' की आशंका, कमलनाथ का दावा 10 विधायकों को दिया करोड़ों का ऑफर

Kamalnath
भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति में इस वक्त विधायकों के जोड़-तोड़ की कवायद जोरशोर से सुनाई दे रही है। एग्जिट पोल के अनुमानों के अनुसार केंद्र में एक बार फिर मोदी सरकार बनने की संभावना के बाद अब 6 महीने पुरानी कांग्रेस सरकार पर खतरा मंडराने लगा है। कांग्रेस ने भाजपा पर सरकार गिराने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त करने और उनको अपने पक्ष में करने के लिए ‘ऑपरेशन लोटस’ चलाए जाने की आशंका जाहिर की है।
भाजपा जिसने लोकसभा के चुनाव प्रचार के दौरान बढ़-चढ़कर ये दावा किया था सरकार अब कुछ दिनों की मेहमान है वो क्या अब सरकार बनाने के लिए विधायकों की हॉर्स ट्रेडिंग की कोशिश में लग गई है। ये सवाल बीते तीन दिनों से सूबे के सियासी गलियारों में गूंज रहा है।

बाते चाहे कांग्रेस की हो या भाजपा की दोनों ही पर्टियों के बड़े नेताओं ने एक-दूसरे के विधायकों को अपने संपर्क में होने की बात कह कर सियासी पारे को और चढ़ा दिया है। इस बीच नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव का बयान कि कांग्रेस सरकार कभी भी गिर सकती है ने आग में घी का काम किया है इसके बाद मुख्यमंत्री समेत सरकार के मंत्री भाजपा पर हमलवार हो गए।

विधायकों को दिया जा रहा है करोड़ों का ऑफर : भाजपा के कांग्रेस सरकार के भविष्य पर सवाल उठाने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विधायकों की खरीद-फरोख्त का बड़ा आरोप लगाया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि उनके करीब दस विधायकों को फोन कर मंत्री पद और करोड़ों रुपए का ऑफर दिया गया है। पीसीसी में मंत्रियों और विधायकों की बैठक के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्हें अपने विधायकों और समर्थन दे रहे सहयोगी दलों के विधायकों पर पर पूरा भरोसा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार बनने के पहले दिन से ही सरकार गिराने की कोशिश कर ही है और बैठक में करीब दस विधायकों ने उनको बताया कि उनके पास अलग-अलग फोन कॉल आ रहे हैं।

भाजपा के 25 हमारे संपर्क में : इस बीच कैबिनेट मंत्री पीसी शर्मा ने सरकार गिरने की किसी भी संभावना को खारिज करते हुए कहा कि भाजपा के 25 विधायक उनके संपर्क में हैं जो 23 तारीख के बाद उनके साथ आ जाएंगे। पीसी शर्मा ने एग्जिट पोल के दावों को नकारते हुए कहा कि 23 तारीख को एनडीए की सरकार न बनकर कांग्रेस की सरकार बनेगी। इसके बाद भाजपा के बहुत से विधायक उनके समर्थन में आ जाएंगे।

भाजपा ने आरोपों को नकारा : वहीं भाजपा ने कांग्रेस के विधायकों की खरीद-फरोख्त के सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि कांग्रेस सरकार अपने बोझ से गिर जाएगी। सरकार गिराने के लिए भाजपा विधायकों की खरीद-फरोख्त का गंदा काम नहीं करेगी।

क्या है 'ऑपरेशन लोटस' : ऑपरेशन लोट्स शब्द का पहली बार प्रयोग कर्नाटक में भाजपा की सरकार बनाने के लिए 2008 में किया गया था, तब भाजपा ने बहुमत हासिल करने के लिए जेडीएस और कांग्रेस विधायकों को धन-बल के आधार पर तोड़ दिया था, जिससे भाजपा को सदन में बहुमत हासिल हो गया था।

महा चुनाव का महा कवरेज, पल पल की जानकारी वेबदुनिया पर 23 की सुबह 6 बजे से, हम बताएंगे सभी लोकसभा सीटों का रीयल टाइम अपडेट। साथ ही प्रमुख उम्मीदवारों की ताजा स्थिति, राज्यों से लेकर राजनीतिक पार्टियों के प्रदर्शन की जानकारी।

 

और भी पढ़ें :