राष्ट्रपति से मुलाकात कर नरेन्द्र मोदी ने सरकार बनाने का दावा पेश किया

Last Updated: शनिवार, 25 मई 2019 (21:57 IST)
नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 में प्रचंड बहुमत मिलने के बाद संसद के सेंट्रल हॉल में एनडीए के सांसदों की बैठक में औपचारिक तौर पर नरेन्द्र मोदी को का नेता चुना गया। भाजपा सांसदों ने भी सर्वसम्मति से मोदी को दल का नेता चुना।
पेश हैं लाइव अपडेट्‍स-

राष्ट्रपति से मिलने के बाद पीएम मोदी ने कहा-
- मैं देशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।
- आने वाले दिनों में सरकार अपना काम तेज गति से आगे बढ़ाएगी। 'चरैवेती-चरैवेती' के मंत्र के साथ आगे बढ़ेगी।
- यह समय भारत के लिए कई अवसर लेकर आया है।
- देश ने प्रचंड जनम‍त दिया है, इसके साथ अपेक्षाएं भी हैं।
- राष्ट्रपति ने मुझे पदनामित प्रधानमंत्री का पत्र सौंपा।
- एनडीए की मीटिंग हुई थी। एनडीए के साथियों ने नेता चुनकर बड़ी जिम्मेदारी दी है। मैं सभी का धन्यवाद देता हूं।
- प्रधानमंत्री ने भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का नेता चुने जाने के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करके सरकार बनाने का दावा पेश किया।


- भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और एनडीए के नेताओं ने राष्ट्रपति से मिलकर 353 सांसदों का समर्थन पत्र सौंपा।।


नरेन्द्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा-
- मैं भी आप में से ही हूं। हम टीम बनकर देश की
अपेक्षाओं को पूर्ण करने का काम करें।
- घर में हमारा कोई भी ईश्वर हो, लेकिन घर से बाहर निकलने के बाद भारतमाता से बड़ा कोई ईश्वर नहीं हो सकता।
- विश्व की अपेक्षाओं को पूर्ण करने के लिए हमें भारत को सामर्थ्यवान बनाना है।
- कोई चोट लगेगी तो उसे झेलने के लिए मैं हूं, यश के लिए आप हैं।
- दुनिया के देशों की अपेक्षाओं को भी हम पूरा करेंगे।
- भारत के लोगों की अपेक्षाओं को पूर्ण करने का प्रयास करेंगे।

- स्वच्छता आंदोलन बन सकता है तो समृद्ध भारत भी आंदोलन बन सकता है।
- हम 'कुछ करने के लिए' नहीं, ‍बल्कि 'बहुत कुछ करने के लिए' आए हैं।
- देश गरीबी से मुक्ति की ओर बढ़ रहा है।

- मैं अपेक्षाओं को और अधिक प्रोत्साहित करने के लिए काम करता हूं।
- समाज में उमंग और उत्साह होना चाहिए।
- 1857 की तरह हमें सुराज के लिए कंधे से कंधा मिलाकर काम करना है। यह बहुत बड़ा दायित्व है, इसे हमें निभाना है।

- जो हमें वोट देते हैं वो भी हमारे हैं, जो हमारा विरोध करते हैं वो भी हमारे हैं।
- पिछले 5 सालों में हमने गरीबों के साथ हो रहे छल में हमने छेद किया है और सीधे हम उनके पास तक पहुंचे हैं।

- देशवासी हमसे पानी, बिजली की उम्मीद करें, यह उनका हक है।
- गरीबों जैसा छल देश के अल्पसंख्यकों के साथ भी छल हुआ है। उन्हें भयभीत रखा गया है।
- अच्छा होता अल्पसंख्यकों की शिक्षा की चिंता की गई होती। समाज के अन्य वर्गों की तरह उनका भी सामाजिक और आर्थिक विकास होता।
- वोटबैंक की राजनीति के चलते उनके बीच काल्पनिक भय पैदा किया गया। हमें इस छल में भी छेद करना है। हमें विश्वास जीतना है।


- सिर्फ अपने क्षेत्र और राज्य की चिंता न करें बल्कि पूरे देश की चिंता करें।
- गांधी, दीनदयाल और लोहिया की विचारधारा से निकले हुए लोग ही भारतीय राजनीति में हैं।
- लालबत्ती हटाना बहुत बड़ा कदम था।

- मनोहर पर्रिकर की पहचान उनकी सादगी ही थी।
- कतार में खड़े रहने पर बुरा नहीं मानना चाहिए।
- वीआईपी कल्चर से बचने की जरूरत है।

- देश में कई नरेन्द्र मोदी पैदा हो गए हैं और सबने अपने-अपने मंत्रिमंडल बना लिए हैं।
- जो जीतकर आए हैं वे सभी मेरे हैं। दायित्व सीमित लोगों को ही दिए जा सकते हैं।
- हमें जन का सम्मान करते हुए उसके आदेश का पालन करना चाहिए।

- न कोई जाति जिताती है, न कोई वर्ग जिताता है, न ही मोदी हमें जिताता है, हमें सिर्फ और सिर्फ इस देश की जनता जिताती है।
- हम जो कुछ भी हैं जनता-जनार्दन के कारण हैं।

- हमारे भीतर का कार्यकर्ता हमेशा जिंदा रहना चाहिए। हमें अहंकार से बचना चाहिए।
- कुछ भी ऑफ द रिकॉर्ड नहीं होता।
- नेताओं का बड़बोलापन बढ़ा देता है मुश्किल।
- ऐसी-ऐसी चीजें हमारे खाते में जमा हो जाती हैं जिनका हमसे कोई लेना-देना नहीं होता।
- मोदी ने कहा कि छपास (अखबार) और दिखास (टीवी) के मोह से हमें बचना चाहिए।

- आजादी के बाद पहली बार महिला सांसदों की संख्‍या सबसे ज्यादा है।
- राष्ट्र के विकास के लिए गठबंधन की राजनीति को हमें अपने-अपने आदर्शों के साथ अपनाना होगा।
- अटलजी ने गठबंधन की राजनीति को सफलतापूर्वक आगे बढ़ाया। उनकी तस्वीर हमें आशीर्वाद दे रही है।
- एनडीए एक विश्वस्त आंदोलन बन गया है।

- मोदी ही मोदी के लिए चैलेंजर है।
- एनडीए देश को सफलतापूर्वक आगे ले जाने की ताकत रखता है।
- नेशनल एंबिशन और रीजनल एस्पिरेशन एक नारा है।

- ये चुनाव न तो मोदी ने लड़ा, न ही भाजपा ने, यह चुनाव देश की जनता ने लड़ा है।
- 17 राज्यों में 50 प्रतिशत या उससे ज्यादा वोट मिले।
- 2014 के मुकाबले हमें 25 प्रतिशत वोट ज्यादा मिले।

- 2019 का चुनाव मेरे लिए तीर्थयात्रा जैसा रहा, क्योंकि जनता-जनार्दन ईश्वर का रूप होता है।
- इससे पहले देश में इतने वोट नहीं डाले गए।
- इस चुनाव में महिलाओं ने वोट डालने के मुकाबले में
पुरुषों की बराबरी कर ली है। अगली बार आगे निकल जाएंगी।
- जिन्होंने हम पर विश्वास रखा, उनके लिए भी हैं और जिनका विश्वास जीतना है उनके लिए भी हैं।
- पिछले 5 साल देश साथ में चला है।
- ये देश ईमानदार को सिर पर बैठाता है, यही इसकी विशेषता है।
- हम आने वाले समय में एक टीम बनाकर अच्छा परिणाम दे सकते हैं।
- सकारात्मक सोच से मिला इतना बड़ा जनादेश।
- जनप्रतिनिधि के लिए कोई भेद नहीं रखता।

- 2019 के चुनाव ने एक नई ऊंचाई दी। देश की जनता ने एक नए युग का शुभारंभ किया है। हम इसके साक्षी हैं।
- देश को चाहिए समभाव और ममभाव। चुनाव ने लोगों को जोड़ने का काम किया।
- सेवाभाव के कारण ही जनता ने हमें स्वीकार किया है।

- एनडीए की यही विशेषता है कि सब कंधे से कंधा मिलाकर चलते हैं।
- जनता ने हमें 2014 में बैठाया ही नहीं, बल्कि 2014 से 2019 तक चलाया है।
- प्रचंड जनादेश जिम्मेदारियों को भी बढ़ा देता है।
- भारत का लोकतंत्र अब परिपक्व हो चुका है। लोकतंत्र को हमें समझना होगा।
- सत्ता के गलियारों में रहकर सत्ता अलिप्त रहने के लिए
खुद को तैयार करना होता।

- सत्ता भाव सिमटने के साथ ही जनता का आशीर्वाद बढ़ता जाएगा।
- पूरी दुनिया का ध्यान भारत के लोकसभा चुनाव पर लगा था। यह चुनाव विश्व के लिए बहुत बड़ा अजूबा है।
- जो संसद में पहली बार चुनकर आए हैं, वे विशेष अभिनंदन के अधिकारी हैं, उन्हें मैं विशेष रूप से शुभकामनाएं देता हूं।
- देश में जो बदलाव आया है, आप सभी उस बदलाव के साक्षी हैं।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा-
- मोदीजी ने नए भारत की संकल्पना देशवासियों के सामने रखी है।
-
2019 के परिणाम में कोई 'वाद' नहीं है। जनता ने पीएम मोदी के समर्थन में वोट दिया है। पीएम मोदी पर एक भी दाग नहीं है।
-
बिना कोई छुट्टी लिए 24 घंटे में 18 घंटे काम करने वाला नेता एनडीए ने चुना।
-
एयरस्ट्राइक कर पुलवामा का बदला लिया। जनता ने परिवारवाद, जातिवाद, तुष्टिकरण की राजनीति को नकारकर विकास को चुना।
-
22 करोड़ गरीबों को बुनियादी सुविधाएं मिलीं। जनता का प्रयोग कामयाब। जनता का मोदीजी पर भरोसा।

- 17 से ज्यादा राज्यों में 50 प्रतिशत से ज्यादा वोट मिले हैं।
- 1971 के बाद कोई प्रधानमंत्री प्रचंड बहुमत के साथ दोबारा प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं।
- हमें प्रचंड और ऐतिहासिक जनादेश मिला है।
- भाजपा अमित शाह ने कहा 'सबका साथ सबका विकास'।



- पीएम नरेन्द्र मोदी ने लालकृष्ण आडवाणी के पैर छुए।
- सभी वरिष्ठ नेताओं ने पुष्पगुच्छ से नरेन्द्र मोदी का स्वागत किया।
- मोदी को एनडीए नेता बनाने का मेघालय के मुख्यमंत्री ने समर्थन किया।
- मोदी को एनडीए नेता बनाने का नगालैंड के मुख्यमंत्री ने समर्थन किया।
- मोदी को एनडीए नेता बनाने का तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने समर्थन किया।

- लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान ने मोदी के एनडीए दल के रूप में समर्थन दिया।
- शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मोदी को एनडीए नेता के रूप में समर्थन दिया।
- बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मोदी को एनडीए दल के नेता के रूप में समर्थन दिया।
- प्रकाश सिंह बादल ने नरेन्द्र मोदी को एनडीए के दल के लिए नेता चुने जाने के प्रस्ताव का समर्थन किया।

sansad pm modi 2019

- बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बीजेपी संसदीय दल के नेता के लिए पीएम मोदी के नाम का प्रस्ताव रखा, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी ने प्रस्ताव का समर्थन किया। सभी सांसदों ने प्रस्ताव का स्वागत किया। इसके बाद सर्वसम्मति से पीएम मोदी को बीजेपी संसदीय दल का नेता चुना गया। अमित शाह ने इसका औपचारिक ऐलान किया।

- भाजपा अध्यक्ष ने नरेन्द्र मोदी के नेता चुने जाने की घोषणा की।
- भाजपा दल के नेताओं ने हाथ उठाकर नरेन्द्र मोदी के नाम का समर्थन किया।

- नितिन गडकरी ने मोदी के नाम का अनुमोदन करते हुए बधाई दी
- राजनाथ सिंह ने नरेन्द्र मोदी के नाम के प्रस्ताव का समर्थन किया।
- भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने नरेन्द्र मोदी को संसदीय दल के नेता का प्रस्ताव किया।
- नरेन्द्र सिंह तोमर संबोधित कर रहे हैं।
- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी संसद के सेंट्रल हॉल पहुंचे।

 

और भी पढ़ें :