यूपी में छिटपुट हिंसा के बीच पांच बजे तक 60 फीसदी मतदान

पुनः संशोधित गुरुवार, 11 अप्रैल 2019 (18:45 IST)
लखनऊ। लोकसभा चुनाव के पहले चरण में गुरुवार को पश्चिम उत्तर प्रदेश की आठ सीटों के लिए हो रहे में शाम पांच बजे तक छिटपुट हिंसा के बीच करीब 60 फीसदी लोगों ने अपना मताधिकार का प्रयोग किया।

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच लोगों ने चिलचिलाती गर्मी की परवाह किए बगैर लोकतंत्र के महापर्व में हिस्सा लिया। युवाओं में मतदान को लेकर खासा उत्साह था वहीं बड़े-बुजुर्गों ने कड़ी धूप में मतदान केन्द्र पहुंच कर लोकतंत्र की महत्ता का संदेश प्रसारित किया।

निवार्चन कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार दोपहर एक बजे तक सहारनपुर में 63.76, कैराना में 60, मुजफ्फरनगर में 60.80 बिजनौर में 60.60, मेरठ में 59.40, बागपत में 60.40, गाजियाबाद में 55.20 और गौतम बुद्धनगर में 58 फीसदी लोगों ने वोट डाल लिए थे। मतदान शाम छह बजे तक चलेगा।

पहले चरण की आठ सीटों में भाजपा ने वर्ष 2014 में विपक्ष का सूपड़ा साफ कर दिया था। हालांकि पिछले साल हुए उपचुनाव में उसे कैराना संसदीय क्षेत्र से हाथ धोना पड़ा था। पहली बार वोट डालने पहुंचे युवा मतदाता अपने नाम की पर्ची लेकर कतार में लगे और पूरे संयम के साथ अपनी बारी का इंतजार किया। बुजुर्गों के लिए मतदान केन्द्रों पर पुख्ता इंतजाम किए गए थे। इसके बावजूद कुछ शरारती तत्वों ने मतदान प्रक्रिया में व्यवधान डालने का प्रयास किया, जिसे पहले से सजग पुलिस और प्रशासन ने विफल कर दिया।

कैराना संसदीय क्षेत्र के कांधला इलाके में ग्रामीणों ने मतदानकर्मियों पर पार्टी विशेष को वोट डालने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। इस दौरान भीड़ में मौजूद कुछ अराजक तत्वों में पथराव शुरू कर दिया। सुरक्षा बलों ने हल्का बल प्रयोग कर भीड को खदेड़ दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने मतदान के बहिष्कार का एलान किया, लेकिन जिलाधिकारी और वरिष्ठ अधिकारियों के समझाने पर मतदान फिर से शुरू हो गया।


मुजफ्फरनगर के मौजूदा भाजपा सांसद संजीब बालियान ने अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं के हिजाब में वोट डालने को लेकर एतराज जताया। उनका आरोप था कि बुर्के की आड़ में फर्जी मतदान किया जा रहा है। इसको लेकर वहां मौजूद भाजपा समर्थकों ने हंगामा कर दिया मगर अधिकारियों के समझाने पर कुछ देर बाद स्थिति सामान्य हो गई।

जिले में बुढ़ाना के शेखावतपुर गांव में फर्जी मतदान को लेकर भाजपा और राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) के कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट हुई। उधर, बसपा समर्थकों ने ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। चुनाव अधिकारियों ने हालांकि इसे महज एक अफवाह करार देते हुए सभी मशीनों को दुरुस्त बताया।

गौतम बुद्धनगर में ‘नमो फूड’ लिखे खाद्य पैकेटों के वितरण को लेकर विपक्षी दलों के समर्थकों ने जमकर हंगामा किया। इस बारे में बवाल बढ़ता देख वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्णा ने कहा कि पुलिसकर्मियों के लिए नोएडा के एक रेस्टोरेंट से खाने के पैकेट मंगाए गए थे, जिस भोजनालय का नाम ‘नमो’ है। इसका राजनीतिकरण करना ठीक नहीं है। बवाल करने वाले समर्थकों को इस बारे में स्थिति स्पष्ट कर दी गई है।
पहले चरण में 96 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है, जिसमें सहारनपुर में 11, कैराना में 13, मुजफ्फरनगर में 10, बिजनौर में 13, मेरठ में 11, बागपत में 13, गाजियाबाद में 12 और गौतम बुद्धनगर में 13 प्रत्याशी मैदान में हैं। इस चरण में एक करोड 52 लाख 68 हजार 56 लोगों को म‍ताधिकार प्राप्त है। इनमें दो लाख 73 हजार से अधिक नए मतदाता शामिल हैं, जो पहली बार वोट डालेंगे।

 

और भी पढ़ें :