लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद उपेन्द्र कुशवाहा को एक और झटका

पुनः संशोधित रविवार, 26 मई 2019 (20:32 IST)
पटना। लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के जीरो पर आउट होने के बाद इसके दो विधायक और एक विधान परिषद के सदस्य के आज औपचारिक रूप से सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के घटक जनता दल यूनाइटेड (जदयू) में शामिल होने से अब बिहार विधानमंडल के दोनों सदनों में भी रालोसपा की संख्या शून्य हो गई है।
बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने रालोसपा के चिनारी से विधायक ललन पासवान और हरलाखी से विधायक सुधांशु शेखर को जद (यू) में विधिवत शामिल होने से संबंधित अधिसूचना जारी कर दी।

इन दोनों विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष जद (यू) में शामिल होने की पूर्व में अर्जी दी थी। अब रालोसपा का कोई भी विधायक विधानसभा में नहीं रह गया है।

वहीं, विधान परिषद में रालोसपा के एकमात्र सदस्य संजीव श्यामसिंह भी जद (यू) में शामिल हो गए। सिंह ने भी विधान परिषद के कार्यकारी सभापति हारून रशीद के समक्ष जद (यू) में शामिल होने की अर्जी दी थी, जिसे स्वीकार करते हुए आज अधिसूचना जारी कर दी गई।
उल्लेखनीय है कि रालोसपा अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा के से नाता तोड़ने के बाद पार्टी के दोनों विधायक एवं विधान पार्षद ने एक अलग गुट बना लिया था, जिसके सदन में रालोसपा से अलग बैठने की व्यवस्था भी की गई थी। लोकसभा चुनाव में रालोसपा के करारी हार के बाद इन दो विधायक और विधान पार्षद का जद (यू) में विलय हो गया। अब ये दोनों विधायक और विधान पार्षद विधानसभा एवं विधान परिषद में जद (यू) के सदस्यों के साथ ही बैठेंगे।
रालोसपा के दो विधायकों के जद (यू) में शामिल होने के बाद विधानसभा में अब जद (यू) के विधायकों की कुल संख्या बढ़कर 73 हो गई है। इसी तरह विधान पार्षद सिंह के जद (यू) में शामिल होने के बाद विधान परिषद में अब जद (यू) के कुल सदस्यों की संख्या बढ़कर अब 33 हो गई है।

 

और भी पढ़ें :