0

ट्रंप और टि्वटर की तनातनी कहां तक जाएगी?

शनिवार,मई 30, 2020
0
1
तालाबंदी लागू होने के बाद पहली बार 3 जून को एक संसदीय समिति की बैठक बुलाई गई है। तालाबंदी के दौरान 100 देशों में संसदीय कार्य चल रहे थे, लेकिन भारत में नहीं।
1
2
कोरोना के इलाज में इस्तेमाल हो रही मलेरियारोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन के ट्रॉयल पर डब्ल्यूएचओ ने अस्थायी रोक लगा दी है। यह फैसला उस शोध के बाद आया है जिसमें कहा गया था कि कोविड-19 के मरीजों के लिए दवा असुरक्षित है।
2
3
भारत कोरोना प्रभावित दुनिया के शीर्ष 10 देशों में शामिल हो गया है। इसके साथ ही अस्पतालों में बिस्तरों की कमी की बात सामने आने लगी है। बुरी तरह से प्रभावित मुंबई में अस्पताल के बिस्तर कम पड़ने लगे हैं।
3
4
कोरोना वायरस (Corona virus) कोविड-19 के बाद के काल में दुनिया के कई अमीर देश चीन पर अपनी निर्भरता कम करना चाह रहे हैं। भारत के हाईटेक मैन्युफैक्चरिंग उद्योग को इसका बड़ा फायदा मिल सकता है।
4
4
5
अमेरिका ने 35 देशों वाली ओपन स्काई संधि से निकलने की धमकी दी है। इस संधि के तहत सदस्य देश एक-दूसरे के वायु क्षेत्र में निगरानी के लिए उड़ान भर सकते हैं। ट्रंप प्रशासन रूस पर संधि का उल्लंघन करने का आरोप लगा रहा है।
5
6
प्रवासी मजदूरों की वापसी को लेकर एक ओर राजनीतिक दलों में रार चल रही है तो दूसरी ओर इनके पहुंचने की बढ़ती दर के साथ अब शहरों के अलावा ग्रामीण इलाकों में भी कोविड संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ने लगी है।
6
7
अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप कोविड-19 से बचने के लिए हर रोज मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन लेते हैं लेकिन ईयू के विशेषज्ञ इसे कारगर नहीं मानते। अब भारत के चिकित्सा अधिकारी भी इस दवा के असर पर संदेह करने लगे हैं।
7
8
ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की एक संभावित वैक्सीन का भारतीय कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया बड़े स्तर पर निर्माण शुरू कर चुकी है। सीईओ आदर पूनावाला से डीडब्ल्यू ने पूछा कि कितनी जल्दी कोविड-19 का टीका तैयार होने की उम्मीद है?
8
8
9
एनडीए सरकार कृषि उत्पादों की बिक्री प्रक्रिया में निजी कंपनियों को लाकर राज्य सरकारों द्वारा चलाई जा रही मंडियों के एकाधिकार को समाप्त कर रही है। क्या वाकई इससे किसानों का भला होगा और व्यवस्था में सुधार होगा?
9
10
हाल के ही कुछ हफ्तों में भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प के कम से कम 4 प्रकरण हो चुके हैं। क्या ये सामान्य घटनाएं हैं या ये किसी और बात की तरफ इशारा करती हैं?
10
11
लॉकडाउन के कारण भारत के विभिन्न भागों में रहने वाले बिहारी मजदूर बड़ी संख्या में अपने राज्य पहुंचे हैं। इन श्रमिकों के सहारे विकसित बने राज्य मजदूरों के पलायन से परेशान हैं, तो बिहार इनके बूते आत्मनिर्भर बनना चाहता है।
11
12
कोरोना महामारी पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ताकत का अखाड़ा बन रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डब्ल्यूएचओ की फंडिंग पूरी तरह बंद करने की धमकी दे रहे हैं, तो चीन कहता है कि ट्रंप अपनी नाकामी का ठीकरा दूसरों के सिर फोड़ रहे हैं।
12
13
'खाना तो मिल जाएगा साहब, एक पुरानी चप्पल दे दो', ये भावुक मांग है 32 साल के त्रिलोकी कुमार की, जो अपने पैरों पर फोड़े और जख्म दिखाते हुए चप्पल की मांग कर रहे हैं। कई मजदूरों के पास ढंग की चप्पल तक नहीं है।
13
14
कोरोना और उस पर डब्ल्यूएचओ की प्रतिक्रिया की जांच को लेकर यूरोपीय देश और ऑस्ट्रेलिया समर्थन जुटा रहे हैं ताकि 'निष्पक्ष और स्वतंत्र समीक्षा' हो पाए। अब जांच को लेकर मसौदा प्रस्ताव विश्व स्वास्थ्य सभा में पेश किया जाएगा।
14
15
कोरोना वायरस ने दुनिया में हर कहीं डॉक्टरों की जिंदगी बदलकर रख दी है। भारत में भी हाल अलग नहीं। घर और अस्पताल के बीच तालमेल बिठाने में हो रहीं दिक्कतों के बीच डॉक्टर अपना काम कर रहे हैं।
15
16
कोरोना वायरस (Corona virus) कोविड-19 महामारी ने दुनियाभर की कमजोर स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की ओर सरकारों का ध्यान आकर्षित किया है। हजारों की संख्या में कोविड-19 के मरीजों के इलाज के लिए रातोरात अस्पतालों का निर्माण किया जा रहा है।
16
17
भारत में कोरोना संकट की वजह से लाखों मजदूर बेरोजगार हुए हैं, वहीं निजी क्षेत्र में काम करने वाले पेशेवरों के सामने भी रोजगार का गंभीर संकट है। ग्रामीण पृष्ठभूमि के युवा आजीविका का रास्ता अपने गांवों में तलाश रहे हैं।
17
18
कोरोना महामारी का दक्षिण एशियाई देशों के संगठन सार्क और आसियान ने अलग-अलग मुकाबला किया है। क्षेत्रीय गुटों में वैश्विक महामारी से लड़ने में आपसी सहयोग में भारी अंतर दिखा है। इसने सहयोग की समस्याओं को उजागर किया है।
18
19
सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी की रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल महीने में देश के 2.7 करोड़ युवाओं की नौकरी चली गई, ये युवा 20 से 30 वर्ष के आयु के बीच के हैं। अन्य देशों के मुकाबले भारत में युवाओं की संख्या भी अधिक है।
19