0

कोविड मौतों से स्तब्ध: भारतीय युवाओं में जीवन बीमा लेने की होड़

गुरुवार,जून 17, 2021
0
1
अरुणाचल प्रदेश में अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे लोअर सुबनसिरी जिले में 45 साल से ऊपर के लोग कोरोना की वैक्सीन लगवाने से हिचक रहे थे। उनकी हिचकिचाहट दूर करने के लिए राज्य सरकार ने 20 किलो चावल की पेशकश की।
1
2
दक्षिण एशिया में भारत के प्रमुख ताकत होने की 3 वजहें हैं, पड़ोसी देशों की मदद, राजनीतिक प्रभाव और क्षेत्र के देशों से ऐतिहासिक संबंध। लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के बाद इस इलाके में भारत का प्रभाव लगातार कम हो रहा है।
2
3
कोरोना महामारी के बाद की पत्रकारिता कैसी होगी? डॉयचे वेले की सालाना ग्लोबल मीडिया फोरम में जर्मन चासलर एंजेला मर्केल ने कहा कि डिजिटल आजादी और नागरिक अधिकारों की सुरक्षा में संतुलन जरूरी है।
3
4
कोरोना की दूसरी लहर ने पिछले 2 महीनों में पहले से ही बोझिल स्वास्थ्य सेवा प्रणाली को पंगु बना दिया है। कैंसर, हृदय और गुर्दे की गैर-कोविड पुरानी बीमारियों से पीड़ित भारतीयों को बुरी तरह प्रभावित किया है।
4
4
5
अगर चीन ने ये सोचा था कि डोनाल्ड ट्रंप के जाने के बाद अमेरिका से रिश्ते सुधरेंगे, तो ये उसकी भूल थी। चीन हर क्षेत्र में पश्चिमी देशों को टक्कर दे रहा है और चीन और अमेरिका के बीच प्रतिस्पर्धा एक तल्खी भरा मोड़ ले चुकी है।
5
6
अस्थायी दुष्प्रभाव जैसे सिरदर्द, थकान और बुखार टीकों के प्रति शरीर की सामान्य प्रतिक्रिया है और ये काफी आम हैं। लेकिन जरूरी नहीं कि ये तकलीफें भी सबको हों। जानिए क्या है कोरोना के टीके के साइड इफेक्ट का विज्ञान?
6
7
अपने ही आंकड़ों को संशोधित कर कोरोना से मौत के मामले में बिहार अब देश में 12वें स्थान पर आ गया है। नए आंकड़ों के सामने आने के बाद कोरोना से होने वाली मौतों का रिकॉर्ड रखने पर सियासी बहस छिड़ गई है।
7
8
मंगलवार को दुनिया की कई बड़ी वेबसाइट अचानक बंद हो गईं। छोटी सी गड़बड़ी के कारण हुई इस घटना के असर बहुत ज्यादा गंभीर हैं, क्योंकि ऐसा फिर हो सकता है। 8 जून को अचानक दुनिया थम गई। दुनिया थम गई, क्योंकि इंटरनेट थम गया था। हजारों छोटी-बड़ी और लोकप्रिय ...
8
8
9
ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री चाहते हैं कि लोग घरों से काम करना बंद करें और दफ्तर आना शुरू करें। लेकिन कोविड-19 के बाद जितना रास्ता तय किया जा चुका है, क्या वहां से लौटना आसान होगा?
9
10
भारत कोरोना की दूसरी लहर से उबरता नजर आ रहा है, तो राज्य सरकारें अब संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी कर रही हैं। देश में बीते कुछ सप्ताहों से ऐसी चर्चा जोरों पर है कि तीसरी लहर बच्चों के लिए घातक हो सकती है।
10
11
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन पद संभालने के बाद अपनी पहली विदेश यात्रा की तैयारी कर रहे हैं। इस यात्रा को उन्होंने लोकतंत्र के लिए निर्धारक क्षण बताया है। अपने पहले विदेश दौरे पर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के एजेंडे में जी-7, नाटो और यूरोपीय संघ के ...
11
12
यूं तो पूर्वोत्तर भारत का असम प्रांत परंपरागत रूप से बाढ़ का शिकार रहा है, लेकिन ग्लोबल वॉर्मिंग ने उसकी मुश्किलें बढ़ा दी हैं। हर साल आने वाली बाढ़ का सामना करने के लिए मौसम के अनुकूल बीज विकसित किए जा रहे हैं।
12
13
जलवायु परिवर्तन के परिणामस्वरूप 2050 तक दुनिया के कुछ बड़े तटीय शहर गंभीर रूप से जलमग्न हो सकते हैं। शोध से पता चलता है कि सदी में एक बार आने वाली अत्यधिक बाढ़ हर साल कुछ शहरों में दस्तक देने लगेगी।
13
14
कोरोना महामारी के दौरान दुनियाभर में गरीब हुए लोगों में 60 फीसदी भारतीय हैं। एक रिसर्च के मुताबिक बढ़ी बेरोजगारी के चलते भारत के मिडिल क्लास में 3.2 करोड़ लोग कम हुए है और गरीबों की संख्या साढ़े सात करोड़ बढ़ी है।
14
15
हाल के सालों में चीन में दूध का प्रचार और मांग दोनों तेजी से बढ़े हैं। सरकार भी दूध उत्पादन को बढ़ावा दे रही है। नतीजतन 200 नए फार्म बनाए जा रहे हैं। लेकिन उनके लिए गाय नहीं हैं।
15
16
भारत सरकार ने जून में देश के पास 12 करोड़ वैक्सीन डोज होने की बात कही है। कई डोज उन्हें भी दी जाएंगी, जिन्हें पहले एक डोज लग चुकी है। जून में भी वैक्सीनेटेड लोगों का आंकड़ा 30 करोड़ के पार जाने की उम्मीद नहीं है।
16
17
भारत सरकार ने मॉडर्ना और फाइजर जैसी कंपनियों के टीकों के भारत में प्रवेश का रास्ता और आसान कर दिया है। इन टीकों के लिए भारत में स्थानीय अध्ययन करने की बाध्यता को हटा दिया गया है। स्थानीय अध्ययन टीकों के भारतीय जीनों पर असर के बारे में पता लगाने के ...
17
18
कोरोना महामारी के दौरान जब जलवायु कार्यक्रम ऑनलाइन होने लगे तो कई कार्यकर्ता खराब इंटरनेट की वजह से शामिल नहीं हो पा रहे हैं। खराब इंटरनेट जलवायु कार्यकर्ताओं के लिए समस्या पैदा कर रहा है।
18
19
यूरोप के नेताओं ने इस खुलासे पर प्रतिक्रिया दी है कि डेनमार्क की जासूसी एजेंसी ने अमेरिका की नेशनल सिक्यॉरिटी एजेंसी (एनएसए) के जासूसी अभियानों में सहयोग किया था जिसमें मर्केल का मोबाइल टैप करना भी शामिल था।
19