अमेरिका की झील से निकल रहे शवों के टुकड़े किसके हैं

DW| पुनः संशोधित गुरुवार, 12 मई 2022 (08:13 IST)
हमें फॉलो करें
लास वेगस के संगठित अपराध की कई कहानियां एक का पानी सूखने के बाद सामने आये शवों के टुकड़ों के साथ ऊपर आ गई हैं। लेक मीड से दूसरी बार अज्ञात लोगों के शवों के टुकड़े बाहर आए हैं।

कोलोराडो नदी के पानी से बनी यह झील लास वेगस स्ट्रिप से करीब 30 मिनट की दूरी पर है। नेवाडा और एरिजोना के बीच हूवर डैम से बनी झील में पिछले महीने पानी का स्तर घटने की वजह से ऊपरी हिस्से में पानी काफी कम हो गया। इसी हिस्से से पीने का पानी जाता था। इसके बाद क्षेत्रीय जल प्रशासन को झील की गहराई से पानी लेने पर मजबूर होना पड़ा। यह व्यवस्था 2020 में बन कर तैयार हुई थी ताकि कैसिनो, उपनगरों और 24 लाख निवासियों के साथ ही हर साल यहां आने वाले चार करोड़ सैलानियों को पानी मिल सके।
झील में शव
इसके बाद के सप्ताहांत में बोट की सवारी करने वालों ने एक आदमी का सड़ा गला शव किनारे पर मौजूद कीचड़ में एक जंग लगी बैरल में देखी। शव की पहचान नहीं हो सकी लेकिन लास वेगस की पुलिस को पता चला कि उस व्यक्ति को 1970 से 1980 के दशक के बीच कभी गोली मारी गई थी। इसका पता उसके जूतों से चला है और उसकी मौत की जांच नरसंहार के रूप में की जा रही है।

इसके कुछ ही दिन बाद दूसरा बैरल भी नजर आया लेकिन वह खाली था। शनिवार को लास वेगस के उपनगर हेंडर्सन में पैडल बोटिंग कर रही दो बहनों ने एक पूर्व रिजॉर्ट के पास पानी घटने के कारण सामने आए रेत में हड्डियां देखीं। यह जगह बैरलों के मिलने की जगह से करीब 14।5 किलोमीटर दूर है।
इन हड्डियों की तस्वीरें लेने वाले लिंडसे मेल्विन का कहना है कि पहली बार उन्हें यह हड्डियां किसी बड़े सिंग वाले हिरण की लगीं जिसका यहां बसेरा है। उन लोगों ने पार्क के रेंजरों को कॉल किया। बाद में नेशनल पार्क सर्विस ने इस बात की पुष्टि की कि हड्डियां वास्तव में इंसानों की ही हैं।



लास वेगस की पुलिस ने सोमवार को कहा कि किसी तरह की गड़बड़ी का कोई सबूत नहीं हैं इसलिए हम आगे जांच नहीं कर रहे हैं। पुलिस का कहना है कि अगर प्रशासन यह पुष्टि कर देता है कि मौत संदिग्ध है तो नरसंहार की जांच शुरू की जा सकती है।
झील में मिले शव किसके हैं?
लास वेगस के पूर्व मेयर ऑस्कर गुडमैन ने सोमवार को कहा, "लेक मीड में जो हमें मिलेगा उसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। यह शवों को डालने के लिए बुरी जगह नहीं है।" तीन बार लास वेगस के गवर्नर रहने से पहले गुडमैन माफियाओं के वकील रहे हैं। इनमें एक नाम एंथनी स्पिलोत्रो उर्फ "टोनी द एंट" का भी है।

गुडमैन ने यह कयास लगाने से मना कर दिया कि इस विशाल झील में शव के रूप में कौन कौन मिलेगा। उन्होंने हंसते हुए कहा, "मैं इतना जरूर कह सकता हूं कि वह जिम्मी होफा नहीं थे।" जिम्मी होफा मजदूर नेता थे जो 1975 में लापता हो गये। उन्होंने कहा कि शायद उनके पुराने मुवक्किल (माफिया) जलवायु में दिलचस्पी ले रहे थे और इसलिए झील में पानी का स्तर इतना बनाए रखना चाहते थे ताकि शव इस पानी की कब्रगाह में नीचे पड़े रहें।
दरअसल दुनिया में आज जैसा जलवायु परिवर्तन झेल रही है उसके कारण लेक मिड में पानी का स्तर 1983 की तुलना में करीब 52 मीटर तक नीचे चला गया है। दक्षिण पश्चिमी राज्यों के आदिवासियों समेत शहरों के करीब 4 करोड़ लोगों की प्यास बुझाने वाली झील में इसकी क्षमता का बस एक तिहाई पानी बचा है।

लास वेगस के नेवाडा यूनिवर्सिटी में इतिहास के प्रोफेसर मिषाएल ग्रीन का कहना है, "अगर झील और ज्यादा नीचे जाती है तो संभव है कि कुछ बहुत दिलचस्प चीजें सतह पर आ जाएं। ग्रीन का कहना है, "मैं यह दावा नहीं कर सकता कि बुग्सी सीगल को किसने मारा था लेकिन हम इसका पता लगा लेंगे।"
बुग्सी सीगल एक कुख्यात गैंगस्टर था जिसने 1946 में फ्लेमिंगो कैसिनो खोला जो बाद में स्ट्रिप क्लब बन गया। सीगल को 1947 में बेवर्ली हिल्स में गोली मार दी गई। उसके हत्यारों की आज तक पहचान नहीं हो सकी है। ग्रीन ने कहा, "लेकिन मैं यह दावा कर सकता हूं कि अभी यहां कई और शव होंगे।"

ड्रम में शव होने का क्या मतलब है?
मॉब म्यूजियम के उपाध्यक्ष गेयॉफ शूमाखर ने पानी के नीचे जो झील में जो शव मिल रहे हैं उसके पीछे डूबने का कारण होने की आशंका जताई है। हालांकि उन्होंने यह भी साफ तौर पर कहा कि जो कोई भी बैरल में है वह टार्गेट बना होगा। शूमाखर का कहना है कि बैरल में शव का पाया जाना हिंसा की आशंका को मजबूत करता है।
ग्रीन और शूमाखर दोनों ने "हैंडसम जॉनी" यानी जॉन रोसेली की मौत का जिक्र किया। 1950 के दशक में लास वेगास का यह बदमाश 1976 में लापता हो गया। कुछ दिनों बाद उसका शव लोहे के ड्रम में मियामी तट पर तैरता हुआ मिला।

पूर्व पुलिस अधिकारी से अब लास वेगस की एक पॉडकास्ट के को-होस्ट बन चुके डेविड कोलहाइमर ने बताया कि पिछले हफ्ते ड्रम ढूंढने पर 5,000 डॉलर का इनाम घोषित करने के बाद उन्हें सैन डिएगो और फ्लोरिडा के लोगों ने कहा है कि वे कोशिश करेंगे। कोलहाइमर चाहते हैं कि पेशेवर गोताखोर झील में ड्रमों की तलाश करें। हालांकि नेशनल पार्क सर्विस के अधिकारियों का कहना है कि इसकी अनुमति नहीं दी जाएगी क्योंकि गहराई में सैकड़ों बैरल हैं जिनमें से कुछ 1930 में हूवर डैम के निर्माण के समय से ही वहां मौजूद हैं।
कोलहाइमर का कहना है कि कई लापता हुए लोगों के परिवारों और कुछ मामलों से जुड़े लोगों की भी इसमें दिलचस्पी है। इनमें से एक मामला उस संदिग्ध से जुड़ा है जिसने 1987 में अपनी मां और भाई की हत्या कर दी थी।

एनआर/आरपी (एपी)



और भी पढ़ें :