सचिन ने अपने बेटे को भी जीवन में ‘शॉर्टकट’ नहीं अपनाने की सलाह दी

पुनः संशोधित सोमवार, 27 मई 2019 (12:38 IST)
मुंबई। ने कहा है कि उन्होंने अपने कैरियर में कभी ‘शॉर्टकट’ नहीं लेने की अपने पिता की सलाह पर हमेशा अमल किया और अब यही सलाह उन्होंने अपने बेटे को दी है।

सचिन के बेटे ने हाल ही में खेला जिसमें बल्ले और गेंद दोनों से अच्छा प्रदर्शन किया। उसे मुंबई पश्चिम उपनगर टीम ने 5 लाख रुपए में खरीदा था। उसने शनिवार को वानखेड़े स्टेडियम पर सेमीफाइनल भी खेला।

यह पूछने पर कि क्या वह अपने बेटे को दबाव का सामना करने के लिए कोई सीख देते हैं, सचिन तेंदुलकर ने कहा, ‘मैने कभी उस पर किसी चीज के लिए दबाव नहीं डाला। मैने उस पर खेलने का दबाव नहीं बनाया। वह पहले फुटबॉल खेलता था, फिर शतरंज और अब क्रिकेट खेलने लगा।’

उन्होंने कहा, ‘मैने उससे यही कहा कि जीवन में जो भी करो, मत लेना। मेरे पिता (रमेश तेंदुलकर) ने भी मुझे यही कहा था और मैने अर्जुन से यही कहा। तुम्हे मेहनत करनी पड़ेगी और फिर तुम पर निर्भर करता है कि कहां तक जाते हो।’

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि दूसरे माता पिता की तरह वह भी चाहते हैं कि उनका बेटा अच्छा प्रदर्शन करे।

 

और भी पढ़ें :