WORLD CUP 2019 : कपिल देव को 1983 का इतिहास दोहराए जाने की आशा

Last Updated: बुधवार, 8 मई 2019 (18:30 IST)
नई दिल्ली। वर्ष 1983 में की जमीन पर पहली बार भारत को विश्व चैंपियन बनाने वाले ने यकीन जताया है कि मौजूदा कप्तान विराट कोहली एक बार फिर इंग्लैंड की जमीन पर उनका दोहराएंगे।
कपिल ने बुधवार को यहां 'ब्रिटानिया खाओ, वर्ल्ड कप जाओ' के विजेताओं को की यात्रा का टिकट सौंपने के इस मेगा टूर्नामेंट को लेकर खुलकर बातचीत की।

यह पूछने पर कि जिस तरह उन्होंने 1983 में इतिहास बनाया था, क्या उसी तरह विराट की टीम इस बार इतिहास बना सकेगी? कपिल ने कहा कि आपको इस बात का यकीन होना चाहिए कि क्या आपकी टीम विश्व कप जीत सकती है या नहीं? मुझे इस बात का पूरा यकीन है कि विराट 1983 का मेरा इतिहास दोहरा सकेंगे।

विश्व कप विजेता कप्तान ने 30 मई से इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप के दावेदारों के लिए मेजबान इंग्लैंड, गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया और भारत का नाम लिया। उन्होंने कहा कि सेमीफाइनल की चौथी टीम के सरप्राइज के तौर पर न्यूजीलैंड और विंडीज हो सकते हैं। चौथी टीम के लिए दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान भी दावेदार हैं।
पूर्व भारतीय कप्तान ने मौजूदा टीम इंडिया को बेहद संतुलित बताते हुए कहा कि भारत के पास युवा और अनुभव का बेहतरीन तालमेल है। टीम खिलाड़ियों के लिहाज से बेहद संतुलित है जिसमें 4 तेज गेंदबाज और 3 स्पिनर हैं जबकि टीम के पास विराट और महेंद्र सिंह धोनी के रूप में 2 बेहद अनुभवी खिलाड़ी हैं। भारतीय टीम निश्चित रूप से शीर्ष 4 टीमों में शामिल रहेगी। सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद किसी भी टीम के लिए कुछ भी हो सकता है।

विश्व कप के लिए चुनी गई भारतीय टीम पर पूर्व कप्तान ने कहा कि चयनकर्ताओं ने जो टीम चुनी है, उस पर आपको भरोसा होना चाहिए और चयनकर्ताओं की चुनी गई टीम का सम्मान किया जाना चाहिए।
पूर्व ऑलराउंडर कपिल ने पूर्व कप्तान धोनी और विराट के तालमेल को टीम के लिए महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि दोनों ने भारत के लिए काफी अच्छा प्रदर्शन किया है और उम्मीद है कि उनका यह प्रदर्शन विश्व कप में भी जारी रहेगा। टीम को न केवल इन दोनों बल्कि पूरी टीम के तालमेल की जरूरत रहेगी। आपको यह समझना होगा कि आप विश्व कप में भारत के लिए खेल रहे हैं।

उन्होंने विश्व कप के लिए भारतीय तेज आक्रमण को बेहतरीन बताते हुए कहा कि तेज गेंदबाज भारतीय आक्रमण की धुरी रहेंगे और मुझे यकीन है कि 140 किलेामीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकने वाले मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह इंग्लैंड की स्विंग लेने वाली परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाएंगे।

टीम इंडिया में चौथे नंबर को लेकर चल रही बहस और इस स्थान पर विजय शंकर की उपयोगिता के बारे में पूछे जाने पर कपिल ने कहा कि पिछले 10 साल में क्रिकेट बहुत बदल गई है। आज कोई भी स्थान स्थायी नहीं है। मौजूदा समय में टीम में स्थायी जैसा कुछ नहीं होता। ओपनिंग को छोड़ दिया जाए तो कोई भी किसी भी क्रम पर खेल सकता है। वैसे तो ओपनर भी चौथे नंबर पर आ सकता है। मेरा मानना है कि बल्लेबाजी क्रम में एक लचीलापन होना चाहिए।

भारतीय क्रिकेट के सबसे बड़े ऑलराउंडर कपिल ने साथ ही कहा कि मौजूदा भारतीय टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या पर ज्यादा दबाव नहीं डाला जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पांड्या एक अच्छे ऑलराउंडर हैं लेकिन उन पर उम्मीदों का ज्यादा बोझ डालने से उनका प्रदर्शन प्रभावित हो सकता है। उनकी किसी से तुलना नहीं की जानी चाहिए। उन्हें अपना खेल खेलने के लिए छोड़ देना चाहिए तभी वे टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे।

केदार जाधव की चोट और उनकी जगह किसी और खिलाड़ी को लेने के बारे में कपिल ने कहा कि यह फैसला चयनकर्ताओं को करना है कि यदि केदार फिट नहीं रहते हैं तो उनकी जगह किस खिलाड़ी को चुना जाए।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर और ओलंपिक पदक विजेता मुक्केबाज विजेन्दर सिंह की तरह राजनीति में प्रवेश करने के सवाल पर कपिल ने साफतौर पर इंकार करते हुए कहा कि उनका राजनीति में उतरने का कोई इरादा नहीं है।

 

और भी पढ़ें :