WTC Final: टीम इंडिया ने दी मिल्खा सिंह को श्रद्धांजलि, हाथ में 'ब्लैक बैंड' पहनकर मैदान पर उतरे खिलाड़ी

WTC final
Last Updated: शनिवार, 19 जून 2021 (17:28 IST)
WTC Final
भारत और न्यूजीलैंड के बीच मुकाबले की शुरुआत हो चुकी है। मैच का पहला दिन बारिश के चलते धुल गया था, लेकिन अब दूसरे दिन टॉस जीतकर केन विलियमसन ने फील्डिंग करने का निर्णय लिया है। परिणामस्वरुप भारतीय टीम बल्लेबाजी करने उतरी है। इन सबके बीच भारतीय खिलाड़ी बाजू पर काली पट्टी बांधकर मैदान पर उतरे नजर आ रहे हैं।

दरअसल, देर रात महान फर्राटा धावक का निधन हो गया। जिससे पूरा खेल जगत शोक में डूबा हुआ है। ऐसे में भारतीय खिलाड़ी अपनी बाजुओं पर काली पट्टी बांधकर इस दिग्गज को श्रृद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। फ्लाइंग सिख के नाम से दुनियाभर में अपनी पहचान बनाने वाले मिल्खा सिंह का कोरोना महामारी से एक महीने तक जूझने के बाद चंडीगढ़
के एक अस्पताल में शुक्रवार देर रात निधन हो गया।


मैच शुरू होने से पहले बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली, कप्तान विराट कोहली और हेड कोच रवि शास्त्री सहित अन्य खिलाड़ियों ने भी मिल्खा सिंह को याद कर भावपूर्व श्रृद्धांजलि दी थी।

खेल जगत डूबा शोक में
इसके अलावा खेल जगत शोक में डूब गया है और सोशल मीडिया पर उन्हें श्रृद्धांजलि देने का सिलसिला जारी है ।

भारत के पूर्व क्रिकेट कप्तान सौरव गांगुली से लेकर महान फर्राटा धाविका पी टी उषा तक सभी ने सोशल मीडिया पर उन्हें भावभीनी श्रृद्धांजलि दी ।


पी टी उषा : मेरे आदर्श और प्रेरक मिल्खा सिंह जी के निधन के बाद दुख के काले बादल छा गए हैं ।जुझारूपन और कड़ी मेहनत की उनकी कहानी ने लाखों को प्रेरित किया और आगे भी करती रहेगी । उषा स्कूल के छात्रों की ओर से उन्हें श्रृद्धांजलि ।

सौरव गांगुली : इस खबर से बहुत आहत हूं । आरआईपी, भारत के महानतम खिलाड़ियों में से एक । आपने युवा भारतीयों को एथलीट बनने के सपने दिये । आपको करीब से जानने का सौभाग्य मुझे मिला ।
एम सी मैरीकॉम : हमारे राष्ट्रीय नायक और लीजैंड श्री मिल्खा सिंह जी के निधन से दुखी हूं । शोक संतप्त परिवार को मेरी हार्दिक संवेदनायें । आरआईपी मिल्खा सिंह ।

शुभंकर शर्मा : मिल्खा अंकल नहीं रहे । विश्वास ही नहीं होता । चंडीगढ अब पहले जैसा नहीं रहेगा । अपने जीवन के विभिन्न मोड़ पर उनसे मिलने और प्रेरित होने का सौभाग्य मिला । हर बार उनसे एक नयी सीख मिली । उनका व्यक्तित्व ही ऐसा था ।

हिमा दास : विश्व चैम्पियनशिप अंडर 20 खिताब और एशियाई खेलों में पदक जीतने के बाद मुझे मिल्खा सर ने फोन किया था । उन्होंने कहा था कि हिमा मेहनत करती रहो, तुम्हारे पास समय है और तुम विश्व स्तर पर भारत के लिये पदक जीत सकती हो । आपका सपना पूरा करने की कोशिश करूंगी सर ।

जसप्रीत बुमराह : एक नायक, एक प्रेरणा, एक लीजैंड । वह आने वाली पीढियों को प्रेरित करते रहेंगे । आरआईपी मिल्खा सिंह सर ।
ऋषभ पंत : भारत एक महानायक और प्रेरणा के स्रोत को विदा दे रहा है ।आप आने वाली पीढी के खिलाड़ियों को प्रेरित करते रहेंगे ।

वीरेंद्र सहवाग : महान व्यक्ति मिल्खा सिंह जी का शरीर हमारे बीच नहीं रहा लेकिन मिल्खा नाम हमेशा हौसले और इच्छाशक्ति का परिचायक रहेगा । क्या शानदार इंसान थे । उनके परिवार को मेरी संवेदनायें । ओम शांति


शिखर धवन : आरआईपी मिल्खा सिंह जी । आपने ऐसी विरासत छोड़ी है जो भारतीय खिलाड़ियों की पीढियों को प्रेरित करेगी ।

युवराज सिंह : मिल्खा सिंह जी के निधन की खबर से दिल टूट गया है ।उनकी जिंदगी और उपलब्धियां लाखों को प्रेरित करेंगी और इन यादों में वह अमर रहेंगे । जीव और परिवार के प्रति मेरी संवेदनायें ।
वीवीएस लक्ष्मण : लीजैंड मिल्खा सिंह जी के निधन से दुखी हूं ।उनकी विरासत पीढी दर पीढी अमर रहेगी । परिवार और प्रशंसकों को मेरी सांत्वना।



और भी पढ़ें :