हरमनप्रीत का बड़ा खुलासा, विवादों से परेशान होकर क्रिकेट छोड़ना चाहती थीं

नई दिल्ली| पुनः संशोधित शनिवार, 25 मई 2019 (08:19 IST)
नई दिल्ली। भारतीय महिला टी-20 टीम की कप्तान और विस्फोटक बल्लेबाज ने कहा है कि टी- 20 विश्व कप के बाद हुए विवादों के चलते वह एक समय को ही छोड़ना चाहती थीं।
हरमन ने भारत के लिए 2010 से लगातार 87 मुकाबले खेले जिसके बाद वह पांव में चोट लगने के कारण फरवरी और मार्च में इंग्लैंड के खिलाफ हुई सीरीज में शामिल नहीं हो सकी थी। उन्होंने अभी तक 93 वनडे मुकाबले खेले है जिसमे 34.52 के औसत से उन्होंने 2244 रन बनाये हैं तथा टी- 20 प्रारूप में उन्होंने 96 मुकाबलों में 28.08 के औसत से 1910 रन बनाए है।

हरमन ने टीम में हुए विवाद को लेकर कहा, 'मैं क्रिकेट से दूर चले जाना चाहती थी। टीम में जो भी हुआ उससे मैं बहुत हताश हो गई थी। कुछ बातें तो वास्तविकता से इतनी दूर थी कि मुझे लगा इन बातों से कुछ समय के लिए दूर चले जाना चाहिए।'
विस्फोटक बल्लेबाज ने कहा कि इस साल फरवरी में न्यूजीलैंड के खिलाफ टी- 20 मुकाबले के दौरान फुटबॉल से अभ्यास करते हुए मेरा बायां पांव मुड़ गया था उसके बावजूद मैंने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीनों मुकाबले खेले। मैं कुछ समय के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से दूर होना चाहती और चोट के कारण मुझे आराम करने का मौका मिला।

उन्होंने कहा कि मैंने अपने आपको पूरी तरह से तैयार कर लिया था कि मैं मुझे क्रिकेट से कुछ समय के लिए दूर होना हैं। मैं केवल इसलिए टीम में नहीं रहना चाहती थी कि मैं सीनियर खिलाड़ी हूं। चोट के कारण मुझे सोचने और समझने का मौका मिला।
उल्लेखनीय है कि भारतीय महिला टीम के टी- 20 विश्वकप सेमीफाइनल मुकाबले से बाहर होने के बाद टीम में विवाद को लेकर बातें सामने आई थी जिनमे भारतीय एकदिवसीय टीम की कप्तान मिताली राज का नाम भी शामिल था। (भाषा)

 

और भी पढ़ें :