जल्द निपटा लें बैंकों के काम, होने वाली है 2 दिन की हड़ताल

पुनः संशोधित गुरुवार, 12 सितम्बर 2019 (20:23 IST)
अगर आपके बैंकों से संबंधित काम पैंडिंग पड़े हैं तो उन्हें जल्द निपटा लें, क्योंकि कर्मचारियों की 4 यूनियनों ने पब्लिक सेक्टर के 10 बैंकों के विलय की घोषणा के विरोध में 25 सितंबर की अर्द्धरात्रि से 2 दिन की हड़ताल बुलाई है।
बैंक यूनियनों ने बैंकों के एकीकरण की इस योजना के खिलाफ नवंबर के दूसरे सप्ताह से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की भी धमकी दी है। कर्मचारी यूनियनें बैंक कर्मियों के वेतन संशोधन की प्रक्रिया तेज करने और 5 दिन के सप्ताह की भी मांग कर रही हैं।
हड़ताल में शामिल हो सकती हैं ये यूनियनें : एआईबीओसी (चंडीगढ़) के महासचिव दीपक कुमार शर्मा ने के मुताबिक ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कनफेडरेशन (एआईबीओसी), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (एआईबीओए), इंडियन नेशनल बैंक ऑफिसर्स कांग्रेस (आईएनबीओसी) और नेशनल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ बैंक ऑफिसर्स (एनओबीओ) इस हड़ताल में शामिल होंगे।
अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा सकते हैं कर्मचारी : शर्मा ने कहा कि देशभर में राष्ट्रीयकृत बैंक 25 सितंबर की मध्यरात्रि से 27 सितंबर की मध्यरात्रि तक हड़ताल पर रहेंगे।
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विलय के विरोध और अपनी अन्य मांगों के समर्थन में बैंककर्मियों ने हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि नवंबर के दूसरे सप्ताह से राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा सकते हैं।
इन बैंकों का होगा विलय : केंद्र सरकार ने 10 राष्ट्रीयकृत बैंकों का विलय कर 4 बड़े बैंक बनाने की घोषणा की है। इसके तहत यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का विलय पंजाब नेशनल बैंक में किया जाएगा।
इसके बाद अस्तित्व में आने वाला बैंक सार्वजनिक क्षेत्र का दूसरा सबसे बड़ा बैंक होगा। इसी तरह सिंडिकेट बैंक का विलय केनरा बैंक में किया जाएगा। इलाहाबाद बैंक का विलय इंडियन बैंक में किया जाना है। आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक को यूनियन बैंक आफ इंडिया में मिलाया जाएगा। (file photo)

 

और भी पढ़ें :