बाल कविता : पड़ा जोर से क्यों चांटा

स्लेट के दो टुकड़े करके
चिल्लाया वह जोर-शोर से
पापा देखो दो-दो स्लेटें
अभी बनाई हैं दिमाग से ...1
पड़ा जोर से चांटा उसको
उसके पापा का तड़ाक से
रोकर भागा अंदर घर में
ओ! मां करते तेज चाल से ...2
 
मां दौड़ी पुचकारा उसको
भरा बाथ में हाथ बढ़ाकर
पूछा उससे मार पड़ी क्यों?
बोला वह हकला-हकलाकर ...3
 
मां ने बोला गलती की है
क्यों तोड़ी थी तुमने पट्टी
जाओ और क्षमा मांगो तुम
भूल गया वह सिट्टी-पिट्टी ...4
हाथ जोड़ बोला पापा से
पापा मुझको माफ कीजिए
गलती मैंने की थी सचमुच
और मुझे अब प्यार कीजिए ...5



और भी पढ़ें :