Reliance Jio ने अपने यूजर्स को किया अलर्ट, e-KYC में रखें सावधानी, जारी किए टिप्स

Last Updated: मंगलवार, 28 दिसंबर 2021 (23:15 IST)
हमें फॉलो करें
रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने अपने ग्राहकों को घोटाले से बचने के लिए चेतावनी के साथ कुछ टिप्स दिए हैं। जियो ने अपने ग्राहकों को साइबर धोखाधड़ी की बढ़ती घटनाओं के प्रति आगाह किया है।

- वेरिफिकेशन के लिए किसी भी नंबर पर कॉल करने के लिए कहने वाले मैसेज से सावधान आपको सावधान रहने की आवश्यकता है। कंपनी ने ग्राहकों से कहा है कि वे किसी भी एसएमएस / कॉल पर आंख मूंद कर विश्वास करने से बचें जिसमें कहा जा रहा हो कि ई-केवाईसी पूरा करें नहीं तो मोबाइल सेवाएं बंद हो जाएंगी।

- रिलायंस जियो के द्वारा यह नोटिस भारती एयरटेल और वोडाफोन के सीईओ द्वारा इस साल की शुरुआत में भेजे गए अपने ग्राहकों को इसी तरह के वॉर्निंग नोटिस के बाद आया है। जियो ने को बताया है कि ठगी से बचने के लिए क्‍या नहीं करने की जरूरत है। जानिए कंपनी ने क्या दिए हैं टिप्स-

- जियो ने अपने ग्राहकों के लिए जो नोटिस जारी किया है, उसमें जियो ग्राहकों से कहा गया है कि वे अपने केवाईसी/आधार डिटेल को अपडेट करने के लिए कोई ऐप डाउनलोड करने से बचें। Jio कभी भी आपसे ऐसी गतिविधियों के लिए कोई थर्ड पार्टी ऐप डाउनलोड करने के लिए ग्राहकों से नहीं कहता है।

- कृपया ऐसे एसएमएस/कॉल से सावधान रहें क्योंकि इससे आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। रिमोट एक्सेस ऐप डाउनलोड न करें क्योंकि धोखेबाजों को आपके फोन की सभी जानकारी उपलब्‍ध हो जाएगी जिसका वे गलत उपयोग करेंगे।
- कंपनी पिछले दिनों में साइबर धोखाधड़ी से संबंधित कुछ मामले प्रकाश में आए हैं जिनमें धोखेबाज खुद को जियो के प्रतिनिधि के रूप में ग्राहक के सामने रख रहा था। मुख्य रूप से पेंडिंग ईकेवाईसी (अपने को जानें) के बहाने ग्राहकों के आधार, बैंक अकाउंट्स, ओटीपी आदि से संबंधित जानकारी ऐसे ठग ग्राहकों से मांगते हैं।

- जियो ने अपने ग्राहकों से ऐसे ई-केवाईसी एसएमएस में दिए गए नंबरों पर कॉल बैक नहीं करें। नोटिस में काम करने के तरीके को समझाया गया। ग्राहकों से कहा गया है कि आमतौर पर डिटेल शेयर करने के लिए एक कॉल बैक नंबर का भी आपके सामने ऑप्शन दिया जाता है।
- जब आप दिए गए नंबर पर कॉल करेंगे, तो उसे एक थर्ड पार्टी ऐप इंस्टॉल करने के लिए कहा जाता है, जो ठगों को ग्राहक के फोन और संबंधित बैंक खातों तक रिमोट एक्सेस लेने की अनुमति प्रदान करता है। Jio अपने ग्राहकों से लिंक, अटैचमेंट पर क्लिक नहीं करने के लिए कहता है, जो कॉल करने वाले Jio से होने का दावा करते हैं।



और भी पढ़ें :