क्यों गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं हार्दिक पांड्या? मुंबई के कोच ने खोला राज

पुनः संशोधित मंगलवार, 20 अप्रैल 2021 (12:45 IST)
चेन्नई:के हरफनमौला हार्दिक पंड्या के इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूदा सत्र के शुरुआती तीन मैचों में गेंदबाजी नहीं करने पर मुख्य कोच महेला जयवर्धने ने बताया कि इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी एकदिवसीय मैच में उनके कंधा मामूली रूप से चोटिल हो गया था।

श्रीलंका के इस पूर्व दिग्गज बल्लेबाज ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हम इस सत्र में उनकी गेंदबाजी देखने का इंतजार कर रहे है लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी एकदिवसीय में शायद उन्हें मामूली चोट लगी थी, वह चोट से उबर रहे है। उन्होंने हालांकि उम्मीद जतायी कि हार्दिक जल्द ही गेंदबाजी करेंगे।

जयवर्धने ने कहा, ‘‘ हम उन्हें लेकर अभी कोई जोखिम नहीं लेना चाहते। हम यह सुनिश्चित करना चाहते है कि वह गेंदबाजी को लेकर सहज रहे। उम्मीद है अगले कुछ सप्ताह में वह गेंदबाजी करते हुए दिखेंगे।’’ उन्होंने ने कहा, ‘‘ ऐसा नहीं है कि हम जानबूझ कर उनसे गेंदबाजी नहीं करा रहे है। जैसे ही वह चोट से उबर जाऐंगे और सहज महसूस करेंगे वह गेंदबाजी करते हुए दिखेंगे।’’
बड़ौदा के 27 साल के इस खिलाड़ी ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ डेविड वार्नर और अब्दुल समद को रन आउट कर टीम में 13 रन से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभायी थी।जयवर्धने ने कहा, ‘‘हम हार्दिक से बाउंड्री के पास क्षेत्ररक्षण करना चाहते है क्याकिं उनका थ्रो काफी तेज होता है और वह शानदार कैच पकड़ते है लेकिन कंधे की चोट के कारण हम उनसे 30 गज के घेरे में क्षेत्ररक्षण करते है।’’

आईपीएल के मौजूदा सत्र में यहां के चेपॉक स्टेडियम में खेले जा रहे मैचों में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीमों का दबदबा रहा लेकिन जयवर्धने ने कहा कि यहां की पिच पर खेलना असंभव नहीं है लेकिन यह धीमी है।
अब तक यहां खेले गये छह मैचों सिर्फ तीन बार टीमों ने 150 रन से अधिक का स्कोर खड़ा किया जबकि पांच मैचों में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीमों ने जीत दर्ज की।

रविवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर और राजस्थान रॉयल्स के बीच खेला गया मुकाबला हालांकि अधिक स्कोर वाला रहा था जिसमें विराट कोहली की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 204 रन बनाने के बाद 38 रन से जीत दर्ज की थी।
जयवर्धने ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मैच से पहले कहा, ‘‘ यह बल्लेबाजी के लिए असंभव विकेट नहीं है। यह अच्छी और प्रतिस्पर्धी पिच है। किसी भी टीम या बल्लेबाज के लिए परिस्थितियों से सामंजस्य बैठाना अहम होता है। इस मामले में हम अपनी योजना पर खरे उतरे है, यह चुनौतीपूर्ण है लेकिन हमारे गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया है।’
स्पिनर राहुल चाहर को सराहा महेला जयवर्धने ने
मुंबई इंडियंस के मुख्य कोच माहेला जयवर्धने ने आईपीएल में बीच के ओवरों में शानदार प्रदर्शन के लिए राहुल चाहर की प्रशंसा की है।

जयवर्धने ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, “ जबसे हमने चाहर के साथ खेलना शुरू किया है मेरा मानना है कि 2019 का सीजन उनका सबसे सफल सीजन था। गत वर्ष संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में भी उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की। कई उतार-चढ़ाव आए, लेकिन वह लगातार अपनी योजना अनुसार गेंदबाजी करते रहे। हमें हर साल राहुल चाहर में सुधार दिखाई दिया है। ऐसा लगता है जैसे वह लंबे समय से हमारे साथ हैं, लेकिन वह अभी भी सीख रहे हैं, जिस तरह से वह निखर कर सामने आए हैं, उससे बहुत खुश हूं। वह हमारी टीम, खासकर स्पिन विभाग में लीडर्स में से एक हैं। ”
उन्होंने कहा, “ एक कोच और एक प्रबंधन टीम के रूप में हम उनकी प्रगति से बहुत खुश हैं। उनकी सबसे अच्छी खासियत खेल के बारे में सीखना, किस तरह से गेंदबाजी की जाए और अन्य चीजों को लेकर सीखने की भूख है। इसकी बदौलत उन्होंने अपने खेल में बहुत सुधार किया है। यह सिर्फ उनका कौशल नहीं है, बल्कि मुझे लगता है कि गेंदबाज के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज बीच के ओवरों में आकर गेंदबाजी की योजना बनाना और इसको क्रियान्वित करना है। विपक्षी बल्लेबाज के मुताबिक खेल-योजना को बदला जा सकता है, उसे देखते हुए कि वह क्या करने की कोशिश कर रहा है। पिछले कुछ वर्षों में राहुल ने इस पर काफी काम किया है जिसका परिणाम दिखा है। इसको लेकर हम बहुत खुश हैं। ”
जयवर्धने ने कहा, “ मुझे लगता है कि मेरे लिए यह कहना अनुचित है कि आपको आईपीएल मैचों और अन्य हर जगह पर विकेट लेने की जरूरत है। टूर्नामेंट दिलचस्प इसलिए है क्योंकि इस बार तटस्थ स्थलों पर आयोजन हो रहा है। मुझे लगता है कि यह बल्ले और गेंद के बीच बराबर लड़ाई है। बेशक विकेट थोड़ा धीमा है, लेकिन हमने अभी तक यहां 150 से 160 के स्कोर देखे हैं, हालांकि एक दिन हमें 200 का स्कोर भी देखा। यहां अनुचित नहीं, बल्कि अच्छे और प्रतिस्पर्धी विकेट हैं।



और भी पढ़ें :