धोनी ने ब्रावो को कहा था 6 अलग गेंदें डालने के लिए, कोहली ने कहा 'जहां से हारे वह निराशाजनक'

Last Updated: शनिवार, 25 सितम्बर 2021 (19:05 IST)
शारजाह:तीन बार की आईपीएल विजेता टीम (सीएसके) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने यहां शुक्रवार को आईपीएल 14 के 35वें मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) को छह विकेट से हराने के बाद कहा कि उनके खिलाड़ियों ने कड़ी मेहनत की है और अपनी भूमिकाओं और जिम्मेदारियों को समझा है।

धोनी ने मैच के बाद कहा, “ हम ओस को लेकर चिंतित थे और हमने पिछले सीजन यहां यह देखा था। बेंगलुरु ने शानदार शुरुआत की, हालांकि आठवें या नौवें ओवर के बाद पिच थोड़ी धीमी हो गई। पडिकल जिस तरह से एक छोर से बल्लेबाजी कर रहे थे, उस स्थिति में जडेजा का स्पैल काफी अहम था। मैंने ड्रिंक्स के दौरान मोईन से कहा कि वह एक छोर से गेंदबाजी करेंगे, लेकिन फिर मैंने अपना मन बदल लिया। फिर मैंने तय किया कि ब्रावो को गेंदबाजी करनी चाहिए, क्योंकि आप जितनी ज्यादा देरी से उन्हें लाएंगे, उनके लिए परिस्थितियां उतनी ही मुश्किल होंगी और उन्हें इन कठिन परिस्थितियों में लगातार चार ओवर करने होंगे। ”

हमारे खिलाड़ियों ने कड़ी मेहनत की है और अपनी भूमिकाओं और जिम्मेदारियों को समझा है। यहां तीनों मैदान अलग-अलग हैं। यह सबसे धीमे हैं। मुझे लगता है कि यहां बल्ले के साथ बाएं और दाएं हाथ का संयोजन महत्वपूर्ण था। हमारे पास बल्लेबाजी में काफी गहराई है, जिसमें बाएं हाथ के काफी बल्लेबाज हैं और ये सभी किसी भी पोजिशन पर बल्लेबाजी करने के लिए अच्छे हैं, यही वजह है कि हमने रैना और रायुडू को थोड़ा नीचे भेजा। ब्रावो फिट हैं और खुद को अच्छी तरह से क्रियान्वित कर रहे हैं। मैं उन्हें अपने भाई कहता हूं और हमारे बीच हमेशा इस बात को लेकर झगड़ा होता है कि क्या उन्हें धीमी गेंद फेंकनी चाहिए, लेकिन अब हर कोई जानता है कि उनके पास धीमी गेंद है, इसलिए मैंने उन्हें एक ओवर में छह अलग-अलग गेंद फेंकने को कहा। ”

प्रेजेंटेशन सेरेमनी में महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि ब्रावो का फिट होना टीम के लिए काफी अच्छा रहा है। वह मेरे भाई जैसा है। माही ने कहा- मैंने ही उसे कहा था कि 6 अलग अलग तरीके की गेंद डालना क्योंकि अब सब समझ चुके हैं कि तुम धीमी गेंदें डालते हो। हमने इस बात पर काफी चर्चा की थी और ब्रावो ने ना चाहते हुए भी मेरी बात मानी।

हमने 15 से 20 रन कम बनाए, 175 का टोटल जीत के लिए अच्छा होता : विराट कोहली

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के कप्तान विराट कोहली ने यहां शुक्रवार को आईपीएल 14 के 35वें मैच में चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) से हारने के बाद कहा कि विकेट थोड़ा धीमा हो गया था, उन्हें लगता है कि टीम ने 15 से 20 रन कम बनाए।

विराट ने मैच के बाद कहा, “ 175 का टोटल जीत के लिए अच्छा होता। हमने कंसिस्टेंसी से गेंदबाजी नहीं की। गेंद से उतना साहस नहीं दिखाया जितना मैंने अनुमान लगाता हूं। चेन्नई ने पारी के अंत में अच्छी गेंदबाजी की, धीमी गेंदों और यॉर्कर को अच्छी तरह से क्रियान्वयन किया। हमने उन क्षेत्रों के बारे में बात की जहां हम शॉट नहीं मारना चाहते थे, लेकिन हम ऐसा न सके। दूसरी पारी में पहले पांच से छह ओवरों में मैच थोड़ा चेन्नई की ओर मुढ़ गया। सबसे बड़ी बात है कि हम पिछले दोनों मैचों में कभी वापसी कर ही नहीं पाए। संकट के समय में हमें अधिक साहस दिखाना होगा। यह टूर्नामेंट तेजी से आगे बढ़ रहा है। हमें फिर से विजयी पटरी पर उतरना होगा। ”



पहले गेंदबाजी करते हुए चेन्नई ने बेंगलुरु को अच्छी स्थिति में होने के बावजूद 156 रन पर रोक दिया और जवाब में 18.1 ओवर में चार विकेट खाे कर 157 रन बना लिए और मैच जीत लिया। उसके शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों रुतुराज गायकवाड़, फाफ डु प्लेसिस, मोईन अली और अंबाती रायडू ने शानदार प्रदर्शन किया।

रुतुराज ने चार चौकों और एक छक्के की मदद से 26 गेंदों पर 38, डु प्लेसिस ने दो चौकों और दो छक्कों के सहारे 26 गेंदों पर 31, मोईन ने दो छक्कों की मदद से 18 गेंदाें पर 23 और रायडू ने तीन चौकों और एक छक्के के सहारे 22 गेंदों पर 32 रन बनाए। इससे पहले डु प्लेसिस और गायकवाड़ ने टीम को अच्छी शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 71 रन जोड़े।

टॉप ऑर्डर के इस बेहतरीन प्रदर्शन के बाद सुरेश रैना और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी अपनी क्लास दिखाई। दोनों ने अंत में क्रीज पर रह कर कुछ शानदार शॉट लगाए और टीम को जीत दिलाई। रैना ने जहां दो चौकों और एक छक्के के सहारे 10 गेंदों पर 17, वहीं धोनी ने दो चौकों की मदद से नौ गेंदों पर 11 रन बनाए।

इससे पहले चेन्नई ने आखिरी के ओवरों में शानदार गेंदबाजी करते हुए बेंगलुरु को बड़ा स्कोर बनाने से रोका। शार्दुल ठाकुर और ड्वेन ब्रावो ने अंतिम ओवरों में विराेधी टीम के चार विकेट चटकाए, जिसके चलते बेंगलुरु 156 रन का स्कोर ही बना सका।

बेंगलुरु की तरफ से हर्षल पटेल ने सर्वाधिक दो और युजवेंद्र चहल तथा ग्लेन मैक्सवेल ने एक-एक विकेट लिया। बल्लेबाजी में कप्तान विराट कोहली और देवदत्त पडिकल ने शानदार पारी खेली। विराट ने अपनी पारी में छह चौकों और एक छक्कों की मदद से 41 गेंदों पर 53, जबकि पडिकल ने पांच चौकों और तीन छक्कों के सहारे 50 गेंदों पर 70 रन बनाए।

चेन्नई दो अंकों के साथ अंक तालिका में फिर से पहले पायदान पहुंच गया है। बेंगलुरु हालांकि तीन नंबर पर ही बरकरार है, लेकिन उसका नेट रन रेट प्रभावित हुआ है। पिछले दोनों मैचों में हार के बाद बेंगलुरु के लिए वापसी करना बेहद अहम होगा। वह आगामी रविवार को अपने अगले मुकाबले में गत विजेता मुंबई इंडियंस से भिड़ेगा। मुंबई भी पिछले दो मैच हार कर आ रहा है। ऐसे में दोनों टीमों के बीच यह मैच काफी रोमांचक होगा।



और भी पढ़ें :