CAA : Microsoft के CEO सत्या नडेला बोले- भारत में जो भी हो रहा है, वह दुखद

Last Updated: मंगलवार, 14 जनवरी 2020 (09:47 IST)
में पिछले दिनों लागू हुए संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को देश के हिस्सों में अभी भी जारी है। कांग्रेस शासित राज्यों ने इसे लागू करने से इंकार कर दिया है। इस बीच माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के सीईओ सत्या नडेला ने को लेकर बड़ा बयान दिया है। नडेला ने कहा कि जो भी कुछ भारत में हो रहा है, वह है।
ALSO READ:
CAA : कांग्रेस की रणनीति पर फिरा पानी, BSP और AAP ने बैठक में शामिल होने से किया इंकार
सोमवार को एक कार्यक्रम में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला ने कहा कि मुझे लगता है कि जो हो रहा है, वह दुखद है। यह बुरा है। मैं एक ऐसे बांग्लादेशी आप्रवासी को देखना पसंद करूंगा जो भारत में आता है और इंफोसिस का अगला सीईओ बनता है।
अमेरिकी शहर मैनहट्टन में संपादकों के साथ एक बैठक में सत्या नडेला से भारत के नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर सवाल पूछा गया। सवाल था- 'आपकी (माइक्रोसॉफ्ट) जैसी कंपनियों को सरकार के साथ डील करने में बड़ा दबाव झेलना पड़ रहा है। भारत के नागरिकता कानून को लेकर आपकी क्या राय है और क्या आपको उस (भारत की) सरकार के साथ काम करने में दिक्कत हो रही है जिस तरह वह आंकड़ों का इस्तेमाल कर रही है?

सत्या नडेला ने अपने जवाब में आगे कहा कि 'मैं यह नहीं कह रहा कि किसी देश को अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा की चिंता नहीं करनी चाहिए। देशों के बीच सीमाएं होती हैं और यह हकीकत है।

मेरा मतलब है कि इमिग्रेशन इस देश (अमेरिका) का मुद्दा है, यह यूरोप और भारत का भी मुद्दा है, लेकिन ध्यान इस पर होना चाहिए कि कोई किस तरीके से यह तय करता है कि इमिग्रेशन क्या है, शरणार्थी कौन हैं, अल्पसंख्यक समूह कौन है?'

जाने-माने इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने नडेला के इस बयान का स्वागत किया है। नडेला के बयान के समर्थन में ट्विटर पर गुहा ने लिखा कि 'मैं खुश हूं कि सत्य नडेला ने वो कहा, जो वे महसूस करते थे। मैं चाहता हूं कि हमारे अपने आईटी सेक्टर के लोगों में वह कहने का साहस हो, जो वे सोचते हैं।'

विज्ञापन
Traveling to UK? Check MOT of car before you buy or Lease with checkmot.com®
 

और भी पढ़ें :