दुबई में सड़क हादसे में 12 भारतीयों की मौत

Last Updated: शुक्रवार, 7 जून 2019 (14:24 IST)
दुबई। में एक यात्री बस के गुरुवार शाम को दुर्घटनाग्रस्त होने जाने से 12 भारतीय नागरिकों समेत कम से कम 19 लोगों की मौत हो गई तथा पांच अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। बस में 31 यात्री सवार थे।
दुबई पुलिस ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि यह दुर्घटना उस वक्त हुई जब चालक बस से नियंत्रण खो देने के बाद यहां मेट्रो स्टेशन के पास यातायात सिग्नल से टकराई थी। इस हादसे में विभिन्न देशों के कम से कम 17 नागरिकों की मौत हो गई तथा पांच अन्य गंभीर रूप से घायल हो गये। बस में कुल 31 लोग सवार थे।

स्थानीय मीडिया ने बताया कि चालक के बस से नियंत्रण खो देने के बाद बस दुबई में शेख मोहम्मद बिन जायद रोड पर रशीदिया मेट्रो स्टेशन के पास यातायात सिग्नल से टकरा गई। पुलिस के मुताबिक दुर्घटना के कारणों की जांच की जा रही है।
पुलिस ने बताया दुर्घटना के समय बस में विभिन्न देश के 31 यात्री सवार थे जिनमें आधे से अधिक ओमान के निवासी थे। इनमें से बहुत से यात्री ईद की छुट्टी मनाकर ओमान से लौट रहे थे।

इस बीच भारतीय वाणिज्य दूतावास ने शुक्रवार को इस घटना में आठ नागरिकों की मौत की पुष्टि करते हुए उनके नाम जारी किए। मृतकों में राजागोपालन, फिरोज खान पठान, रेशमा फिरोज खान पठान, दीपक कुमार, जमालुद्दीन अराक्कवीट्टील, किरन जॉनी, वासुदेव और तिलकराम जवाहर ठाकुर शामिल हैं। दो मृतकों की अभी पहचान नहीं हो पाई है।
दूतावास के अधिकारियों ने कुछ मृतकों के परिजनों के संपर्क किया है तथा विस्तृत विवरण की प्रतिक्षा कर रहे हैं ताकि पीड़ित लोगों के परिवार के सदस्यों को सूचित किया जा सके। दूतावास के मुताबिक चार घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद राशिद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

भारतीय दूतावास ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर : दूतावास के मुताबिक जैसे ही स्थानीय अधिकारियों से ताजा विवरण उपलब्ध होंगे हम इसे अपडेट कर देंगे। दूतावास ने कहा, 'हमारे अधिकारी राशिद अस्पताल, दुबई में सहायता के लिए मौजूद हैं। हमारे हेल्पलाइन + 971-565463903 पर या हमारे अधिकारी संजीव कुमार, मोबाइल नंबर + 971-504565441 पर किसी भी प्रश्न का जवाब दे सकते हैं।'
भारतीय वाणिज्य दूतावास ने पीड़ित के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता है जिनकी इस दुखद दुर्घटना में मौत हो गई। वाणिज्य दूत ने अन्य अधिकारियों और समुदाय के सदस्यों के साथ दुर्घटना से प्रभावित लोगों के रिश्तेदारों, प्रशासन और पुलिस अधिकारियों से देर रात मुलाकात की। (वार्ता)


और भी पढ़ें :