1. लाइफ स्‍टाइल
  2. रेसिपी
  3. भारतीय व्यंजन
  4. Chutney Recipes for winter
Written By

ठंड में बनाएं स्वाद और सेहत से भरपूर 5 तरह की चटपटी और खट्टी-मीठी चटनियां

ठंड के दिनों में गरमा-गरम खाना खाने का अपना अलग ही मजा है। इन दिनों खास करके नमकीन, चटपटे पूरी, पराठे तथा गरमा-गरम कचौरी, समोसे खाएं जाते हैं। ऐसे में यदि चटनी मिल जाए तो फिर इस खाने के क्या कहनें, जानिए यहां 5 खास चटनियों के बारे में जो ठंड के दिनों में आपके खाने का मजा दोगुना बढ़ा देंगी। पढ़ें यहां...

1. कैरी-पुदीना की खट्टी-मीठी चटनी
 
सामग्री : 
1 कैरी, 1 प्याज, 50 ग्राम पुदीना, 1 चम्मच जीरा, 1/2 कप गुड़ या स्वादानुसार, 1/2 छोटा चम्मच लाल मिर्च, नमक स्वादानुसार। 
 
विधि :
कैरी और प्याज को मध्यम आकार या छोटे टुकड़ों में काट लें। अब इन्हें मिक्सी जार में डालें और सभी मसाले ऊपर से डालकर पीस लें। यहां आपके स्वाद के अनुसार नमक, मिर्च या गुड़ की मात्रा बढ़ाई या घटाई जा सकती है। लीजिए कैरी-पुदीना की खट्टी-मीठी चटनी तैयार है।

कैरी की चटनी के सेवन जहां खाने का स्वाद बढ़ाती है वहीं पेट और पाचन संबंधी समस्याओं में यह फायदेमंद तथा विटामिन-सी, ए और बी की शरीर को पूर्ति भी करती है।

 
2. इमली की चटनी 
 
सामग्री :
1/2 कटोरी इमली, 1 कटोरी बारीक किया हुआ गुड़, 1 चुटकी हींग, 1/2 चम्मच जीरा, स्वादानुसार काला नमक, 2 चुटकी लाल मिर्च पाउडर, नमक एवं पानी आवश्यकतानुसार। 
 
विधि :
चटनी बनाने के कुछ समय पूर्व इमली को गुनगुने पानी में गलाकर रखें। अब इसके बीज निकाल लें। फिर इमली, गुड़ एवं सभी मसाले मिलाकर मिक्सी में पीस लें। ध्यान रहें कि इमली गलाने में उपयोग किया गया पूरा पानी इसमें एकसाथ नहीं डालना है। जितना आवश्‍यकता है उतना ही पानी चटनी में यूज करें। अब इस मिश्रण को उबाल लें और तैयार चटनी में जीरे का छौंक लगाएं।

लीजिए इमली की लाजवाब चटनी खाने के लिए एकदम तैयार है। आप चाहें तो इसे पतला या गाढ़ा अपने हिसाब से रख सकते हैं। इमली की चटनी उल्टी, जी मचलाना तथा दस्त में लाभकारी तथा पाचन के लिए फायदेमंद है। 

3. लाजवाब मिंट चटनी
 
सामग्री :  
1 कप पुदीने की पत्त‍ियां, 2-3 हरी मिर्च या अपने स्वादनुसार, 3-4 बड़े चम्मच दही, 1/2 चम्मच जीरा, थोड़ासा काला नमक, सादा नमक स्वाद के अनुसार। 
 
विधि : 
सबसे पहले पुदीने की पत्त‍ियों को साफ करके धो लें। इसके बाद सभी सामग्री और पुदीने की पत्त‍ियों को मिलाकर मिक्सी में महीन पीस लें। लीजिए आपकी स्वादिष्ट पुदीना चटनी तैयार है। इस चटनी को आप अपनी सुविधा के हिसाब से गाढ़ी या पतली रख सकते हैं।

पुदीने की चटनी खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ ही पेट, त्वचा संबंधी समस्या के लिए फायदेमंद तथा ठंड के दिनों में बुखार, सर्दी-खांसी से लड़ने में मददगार तथा दस्त में भी फायदा देगी। 
 
नोट : आप चाहें तो इस चटनी में दही के स्थान पर कैरी का प्रयोग भी कर सकते हैं। 

4. खट्‍टी-मीठी लेमन चटनी
 
सामग्री : 
4 नींबू, 1/2 चम्मच लाल मिर्च पाउडर, 1/2 चम्मच जीरा, 1/2 चुटकी हींग, 2 चुटकी काला नमक, सादा नमक एवं शकर स्वाद के अनुसार।
 
विधि : 
सबसे पहले नींबू के बीज निकालकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लीजिए, अब इन टुकड़ों को मिक्सी के जार में डालें और इसमें सारी सामग्री डालकर पीस लें। अच्छी तरह महीन पीस जाने पर इसे एक कांच के जार में निकाल लीजिए। लीजिए स्वाद में लाजवाब नींबू की खट्‍टी-मीठी चटनी आपके लिए तैयार है।

इस चटनी को आप रोटी, पराठे के साथ सर्व करें। नींबू की चटनी खाने से पेट, त्वचा की समस्याओं दूर होने के साथ ही शरीर को ताजगी तथा विटामिन-सी का लाभ देती है।

5. अमचूर की चटनी
 
सामग्री :
2 बड़े चम्मच अमचूर पाउडर, 1 बड़ा चम्मच गुड़, 1/2 छोटा चम्मच लाल मिर्च, 1/2 चम्मच भुना हुआ जीरा, काला नमक स्वादानुसार, 1/2 चुटकी हींग, थोड़ा-सा तेल, नमक स्वादानुसार और पानी। 
 
विधि : 
सबसे पहले गुड़ को पानी में घोल लीजिए और इसमें अमचूर डालकर फेंट लें। अब नॉनस्ट‍िक पेन में हल्का-सा तेल गर्म करके उसमें जीरा, हींग, लाल मिर्च डालकर अमचूर का पेस्ट डाल दें और अंत में नमक डालकर गर्म करें। जब यह पेस्ट गाढ़ा हो जाए तो इसे आंच से उतार लें।

लीजिए तैयार है अमचूर की टेस्टी खट्‍टी-मीठी चटनी। अपने स्वाद के अनुसार आप इसमें नमक या गुड़ बढ़ा सकते हैं। अमचूर की चटनी खाने से सर्दी या गला खराब होने की समस्या नहीं होती है। यह शरीर के लिए गुणकारी तथा पाचन और पेट की समस्याओं में लाभप्रद है।
 
खास कर ठंड के दिनों में उपरोक्त सभी तरह की चटनियों का उपयोग आप मूली के पराठे, मैथी पूरी, पालक पूरी या पराठे, छोड़ के पराठे, मटर के पराठे, कचौरी के साथ करके खाने का अधिक जायका बढ़ा सकते हैं।
 
अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। वेबदुनिया इसकी पुष्टि नहीं करता है। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।