0

Dussehra easy recipes : दशहरे पर सभी का दिल लुभाएंगी ये 4 टेस्टी डिशेज

शुक्रवार,अक्टूबर 23, 2020
Vijayadashami Recipes
0
1
दोनों दालों को कचोरी बनाने के 3-4 घंटे पूर्व भिगो दें। कुछ दाल छोड़ कर बाकी को दरदरा पीस लें। अब कड़ाही में थोड़ा-सा तेल लेकर सौंफ का बघार व हींग डालें,
1
2
इन खास नमकीन व्यंजनों के बिना अधूरा है दशहरे का पावन त्योहार, पढ़ें 3 सरल विधियां...
2
3
एक तो अभी कोरोना काल चल रहा है और इन दिनों मौसम बार-बार बदल रहा है और मौसम बदलते ही सर्दी-खांसी, छींक, बुखार आदि की शुरुआत हो ही जाती है।
3
4
किसी भी चतुर्थी तिथि पर श्रीगणेश का पूजन करते समय मोदक का प्रसाद अर्पण करने से वे प्रसन्न होकर वरदान देते हैं। आइए जानें सरल विधि...
4
4
5
श्राद्ध महालय प्रारंभ हो चुका है। पितृ पक्ष के दिनों में अपने पितरों का तर्पण करते समय उनका पसंदीदा भोजन अवश्य बनाना चाहिए ताकि आपके पितृ प्रसन्न होकर सभी मनोकामना पूर्ण होने का आशीष आपको प्रदान करें। आइए जानें पितृ भोग की 7 सरल विधियां-
5
6
दिगंबर जैन समाज में 21 अगस्त 2020, शुक्रवार को रोट तीज पर्व मनाया जाएगा। रोट तीज के दिन बनाया जाने वाला यह एक विशेष व्यंजन है, जो सभी घरों में रोटतीज (भाद्रपद शुक्ल तृतीया) के दिन बनाया जाता है।
6
7
पोला पर्व के पारंपरिक व्यंजन- सबसे पहले एक प्रेशर कुकर में चने की दाल को अच्छी तरह से धोकर, दाल से डबल पानी लेकर
7
8
अरबी के पत्तों की सब्जी बनाने के लिए सबसे पहले इन पत्तों को अच्छी तरह से साफ कर लें। कोरोना काल में सब्जियों को अच्छी तरह से साफ करना बहुत जरूरी है। इसके लिए आप पहले सादे पानी से इन पत्तों को धो लें, फिर गर्म पानी करके इसमें नमक डालें। फिर इन पत्तों ...
8
8
9
तिरंगी पेस्ट्री बनाने के लिए सबसे पहले मलाई में आधा कटोरी शक्‍कर व गुलाब जल मिलाकर इसे अच्‍छी तरह फेंटे।
9
10
सर्वप्रथम खोया और पनीर को एक थाली में कद्दूकस करके रख लें। अब इसमें शकर मिलाएं, तत्पश्चात कड़ाही में मध्यम आंच पर पकने दें। मिश्रण गाढ़ा होने पर वेनिला एसेंस
10
11
पौराणिक मान्यता के अनुसार नागपंचमी के दिन गैस की आंच पर तवा नहीं रखा जाता है। अत: इस दिन अधिकतर घरों में दाल-बाटी और चूरमा बनाकर नाग देवता और शिवजी को भोग लगाया जाता है। यहां पढ़ें दाल-बाटी, चूरमा बनाने की आसान विधि :
11
12
करेले को धोकर ऊपर के छिलके साफ बर्तन में निकालें। एक भाग में चाकू से चीरा लगाकर बीज इत्यादि निकाल कर छिलके के साथ रखें तथा प्याज के टुकड़े को पीसकर एक ओर रख लें। करेले के अंदर के भाग में नमक भरकर 15 मिनट तक रखें व उन्हें धो लें।
12
13
ऐसे में आज आपको बताएंगे आखि‍र कैसे बनती है जलेबी। जानते हैं जलेबी बनाने की वि‍धि‍।
13
14
अगर आपको भी लॉक डाउन में समय में बाजार के बने पोहे की याद सता रही है तो घबराएं नहीं, घर पर ही इस आसान विधि से बनाएं इंदौरी पोहे।
14
15
सर्वप्रथम चुकंदर को धोकर कद्दूकस कर लें या चाहे तो उसे छीलकर मिक्सी में महीन पेस्ट बना लें। चाहे तो जरूरतानुसार थोड़ा दूध या पानी डाल सकते हैं।
15
16
अदरक चाय आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाती है, जिसके कारण भी आप शीतजनित बीमारियों से बचे रहते हैं। सर्दी के कारण होने वाले सिरदर्द के लिए अदरक की चाय एक बेहतरीन इलाज है।
16
17
सबसे पहले हरी मिर्च को छोटे टुकड़ों में काट लें और लहसुन छीलकर रख लें। अब हरा धनिया, पुदीना, लहसुन और हरी मिर्च डालकर मिक्सी में पीस लें।
17
18
वट सावित्री व्रत के दिन वट की पूजा के लिए गुलगुले, पूड़ी, खीर, हलवा, पंचामृत आदि बनाने के विधान है। इस दिन इन पकवानों से भगवान को भोग लगाया जाता है। आइए जानें
18
19
सबसे पहले मैदा छानकर उसमें थोड़ा सा नमक, तेल और अजवायन डालकर मठरी जैसा आटा गूंथ कर रख दें।
19