0

Medieval Indian History: मध्यकाल का समय क्या निर्धारित होता है?

सोमवार,जून 14, 2021
0
1
कोरोना की दूसरी लहर ने पिछले 2 महीनों में पहले से ही बोझिल स्वास्थ्य सेवा प्रणाली को पंगु बना दिया है। कैंसर, हृदय और गुर्दे की गैर-कोविड पुरानी बीमारियों से पीड़ित भारतीयों को बुरी तरह प्रभावित किया है।
1
2
शामली ज़िले में एक ग्राम प्रधान के कथित उत्पीड़न से दर्जनों घरों पर पिछले कुछ दिनों से 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगे हैं। पीड़ित ग्रामीणों का आरोप है कि बार-बार शिकायत के बावजूद पुलिस और प्रशासन उनकी बात नहीं सुन रहा है और उल्टे शिकायत करने वालों पर ...
2
3
अगर चीन ने ये सोचा था कि डोनाल्ड ट्रंप के जाने के बाद अमेरिका से रिश्ते सुधरेंगे, तो ये उसकी भूल थी। चीन हर क्षेत्र में पश्चिमी देशों को टक्कर दे रहा है और चीन और अमेरिका के बीच प्रतिस्पर्धा एक तल्खी भरा मोड़ ले चुकी है।
3
4
नवांग दोरजे ने भारत-चीन की लद्दाख सीमा स्थित ब्लैक टॉप पर्वत पर महीनों वक्त बिताया है। वे भारतीय सेना को रसद की सामग्री पहुंचाने के लिए वहां आते जाते रहे हैं।
4
4
5
अब यह स्पष्ट हो चुका है कि मौजूदा वक्त में हमारा सामना एक ऐसे वायरस से है जो एक से किसी दूसरे व्यक्ति में बहुत ही आसानी से, और शायद दोगुनी तेज़ी से फैलता है- और यह वुहान (चीन) में साल 2019 के अंत में पाये गए वायरस का नया रूप है।
5
6
महाराणा प्रताप उदयपुर, मेवाड़ में सिसोदिया राजवंश के राजा थे। उनके कुल देवता एकलिंग महादेव हैं। मेवाड़ के राणाओं के आराध्यदेव एकलिंग महादेव का मेवाड़ के इतिहास में बहुत महत्व है।
6
7
राजनीतिक रूप से भारत के सबसे बड़े कद वाले प्रांत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिल्ली दौरे और पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाक़ात के बाद, एक बार फिर उत्तर प्रदेश की राजनीति में बदलाव की चर्चाओं को ...
7
8
अस्थायी दुष्प्रभाव जैसे सिरदर्द, थकान और बुखार टीकों के प्रति शरीर की सामान्य प्रतिक्रिया है और ये काफी आम हैं। लेकिन जरूरी नहीं कि ये तकलीफें भी सबको हों। जानिए क्या है कोरोना के टीके के साइड इफेक्ट का विज्ञान?
8
8
9
कोरोना वैक्सीन के असर को लेकर तमाम तरह की बातें हो रही है, कई लोगों को इसके बाद बुख़ार आता है, कई को नहीं, कई को कुछ और भी महसूस होता है, कई को कुछ भी अलग नहीं लगता। मगर वैक्सीन के असर को लेकर नासिक के शख़्स ने चौंकाने वाला दावा किया है। नासिक ...
9
10
शक, कुषाण और हूणों के पतन के बाद भारत का पश्‍चिमी छोर कमजोर पड़ गया, तब अफगानिस्तान और पाकिस्तान के कुछ हिस्से फारस साम्राज्य के अधीन थे तो बाकी भारतीय राजाओं के, जबकि बलूचिस्तान एक स्वतंत्र सत्ता थी। 7वीं सदी की शुरुआत के दौरान भारत के अफगानिस्तान ...
10
11
राजधानी दिल्ली में घंटेभर से ज़्यादा वक़्त तक चली मुलाक़ात के बाद ये तस्वीर योगी आदित्यनाथ ने ट्विटर पर पोस्ट की। उसके करीब आधा घंटे के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने भी इस मुलाक़ात को लेकर ट्वीट किया और एक तस्वीर पोस्ट की। दोनों तस्वीरों में ध्यान ...
11
12
अपने ही आंकड़ों को संशोधित कर कोरोना से मौत के मामले में बिहार अब देश में 12वें स्थान पर आ गया है। नए आंकड़ों के सामने आने के बाद कोरोना से होने वाली मौतों का रिकॉर्ड रखने पर सियासी बहस छिड़ गई है।
12
13
ओशो रजनीश ने एक बार 99वें के फेर में फंसने की 2 मजेदार कहानी अपने किसी प्रवचन में सुनाई थी। उन्हीं में से एक कहानी आप यहां पढ़ेंगे तो आपको पता चलेगा कि आखिर क्या होता है 99वें के फेर में फंसने का मतलब। कम-से-कम एक मतलब तो आप जान ही जाएंगे। दूसरी ...
13
14
भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय को चुनाव आयोग के नए चुनाव आयुक्त के रूप में नियुक्त किया है।
14
15
मंगलवार को दुनिया की कई बड़ी वेबसाइट अचानक बंद हो गईं। छोटी सी गड़बड़ी के कारण हुई इस घटना के असर बहुत ज्यादा गंभीर हैं, क्योंकि ऐसा फिर हो सकता है। 8 जून को अचानक दुनिया थम गई। दुनिया थम गई, क्योंकि इंटरनेट थम गया था। हजारों छोटी-बड़ी और लोकप्रिय ...
15
16
इस साल 26 जनवरी की परेड के दौरान जैव प्रौद्योगिकी विभाग ने राजपथ पर अपनी झांकी में 'आत्मनिर्भर भारत' अभियान के तहत कोविड-19 की वैक्सीन विकास प्रक्रिया को दिखाया था। उसके अगले दिन अख़बारों ने लिखा कि ''संपूर्ण आत्मनिर्भर भारत अभियान की असाधारण ...
16
17
ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री चाहते हैं कि लोग घरों से काम करना बंद करें और दफ्तर आना शुरू करें। लेकिन कोविड-19 के बाद जितना रास्ता तय किया जा चुका है, क्या वहां से लौटना आसान होगा?
17
18
भारत कोरोना की दूसरी लहर से उबरता नजर आ रहा है, तो राज्य सरकारें अब संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी कर रही हैं। देश में बीते कुछ सप्ताहों से ऐसी चर्चा जोरों पर है कि तीसरी लहर बच्चों के लिए घातक हो सकती है।
18
19
कोविड महामारी की वजह से तबाह हुई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के उपायों पर लगातार चर्चा हो रही है लेकिन जिस उपाय को लेकर सबसे ज्यादा मतभेद है, वह है रिज़र्व बैंक को और नोट छापने चाहिए या नहीं।
19