Winter Health Tips : रात में ऊनी कपड़े पहनकर सोने से बढ़ता है इन 4 बीमारियों का खतरा



दिसंबर के अंत तक सर्दी का सीतम बढ़ जाता है। बॉडी को गर्म रखने के लिए कई सारे जतन किए जाते हैं। लेकिन सर्दी से बचने के लिए कई

लोग कुछ ऐसी भूलकर देते हैं कि उसका सीधा असर उनके स्वास्थ्य पर पड़ जाता है। कहीं आप भी पहनकर तो नहीं सो जाते हैं
अगर ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाए आप कई सारी शारीरिक समस्याओं को न्यौता दे रहे हैं। आइए जानते हैं रात में स्वेटर पहनकर सोने से
होने वाले नुकसान -



स्किन पर रेशैज - दरअसल, गर्म कपड़े पहने से स्किन रूखी हो जाती है, जिससे स्किन पर खुजली हो सकती है या बारीक दाने भी हो सकते हैं।कई लोगों को उन से स्किन की अधिक समस्या रहती है। इसलिए रात को स्वेटर नहीं पहनकर सोने की सलाह दी जाती है।


डायबिटीज या बीपी - ऊनी कपड़ों में इस्तेमाल किया जाने वाला फाइबर मोटा होता है। जिससे शरीर की गर्मी बाहर नहीं निकल पाती है। अगर
आप बीपी या डायबिटीज के मरीज है तो आपको स्वेटर पहनकर सोने से समस्या बढ़ सकती है।
सांस की समस्या - दरअसल, गर्म कपड़े पहनने से ऑक्सीजन ब्लॉक हो जाता है। जिससे आपको घबराहट भी हो सकती है। अगर आपको सांस की
समस्या है तो स्वेटर पहनकर नहीं सोए। बेचैनी भी बढ़ सकती है।

बीपी लो हो जाना - गर्म कपड़े पहनकर सोने से आपका बीपी लो हो सकता है। तेजी से पसीना आ सकता है। ऐसे में बीपी लो हो सकता है। ऐसेमें डबल कंबल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसलिए रात में सोते वक्त स्वेटर पहनकर नहीं सोएं।





और भी पढ़ें :