1. लाइफ स्‍टाइल
  2. सेहत
  3. हेल्थ टिप्स
  4. Safety Tips for Diwali in hindi
Written By

Safety Tips for Diwali : इस दिवाली रखें खुद को फिट और सुरक्षित, जानिए जरूरी बातें

दिवाली की धूम से तो हम सभी वाकिफ हैं। दिवाली के दिन दीयों की रोशनी से पूरा घर जगमग हो उठता है और ढेर सारे पकवान रिश्तों में और मिठास घोलते हैं। दिवाली के त्योहार के दिन पूरा परिवार एकत्र होता है और इस उत्सव को बहुत धूमधाम से मनाता है। दिवाली के पकवान, मिठाइयां और पटाखे इन सबका असर कहीं-न-कहीं सेहत पर भी तो पड़ता ही है। इसलिए इन सबके साथ सेहत का तालमेल बैठाना भी तो जरूरी है। इसलिए त्योहार के उत्साह का ख्याल रखते हुए अपनी सेहत और सुरक्षा का भी ख्याल रखना जरूरी है। आइए जानते हैं कुछ जरूरी बातें, जो आपको पता होनी चाहिए...
 
जो व्यक्ति अस्थमा से पीड़ित हैं, उन्हें अपनी सेहत का विशेष ख्याल रखने की जरूरत है। ध्यान रखें कि इन्हेलर अपने पास ही रखें ताकि अचानक किसी तरह की कोई परेशानी होने पर आप इसका तुरंत इस्तेमाल कर सकें।
 
ऐसे लोग जो एलर्जी, लो इम्यूनिटी और सांस संबंधी रोगों से परेशान हैं, उन्हें पटाखों से दूर ही रहना चाहिए। अत्यधिक प्रदूषित क्षेत्रों से दूर ही रहें।
 
पटाखों की वजह से वायु प्रदूषण बहुत ज्यादा होने लगता है। ऐसे में धूल और प्रदूषण से बचने के लिए फेस मास्क लगाकर ही रखें। वैसे भी कोरोना काल में यह हमारे जीवन का एक जरूरी हिस्सा बन चुका है।
 
दिवाली के तुरंत बाद वॉक करने के लिए बाहर न जाएं, क्‍योंकि हवा में बहुत ज्‍यादा प्रदूषण होता है। ऐसे में आपको स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती है।
 
यदि सांस लेने में दिक्कत आ रही है या घुटन-सी महसूस हो रही है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।
 
स्वस्थ रहने के लिए अपनी डाइट का विशेष ख्याल रखें व अपनी डाइट में नट्स और ड्राई फ्रूट्स को शामिल करें।
 
मिठाइयों से दूरी बनाकर रखें।
 
आप चाहें तो अपनी एक फूड डायरी बना सकते हैं जिसमें आप अपनी डाइट के बारे में लिख सकते हैं।
 
दिवाली के दिन वैसे तो पटाखों के शोर से बचना काफी मुश्किल होता है, लेकिन आप कोशिश तो कर ही सकते हैं। शोर से बचने के लिए अपने घर के दरवाजे और खिड़कियां बंद रखें।
 
सूती कपड़े पहनें, सिंथेटिक कपड़े नहीं।
 
सावधानी का पूरा ख्याल रखते हुए पटाखे जलाएं। सुनिश्चित करें कि पटाखे जलाते समय कोई भी दुर्घटना होने पर पानी आसानी से उपलब्‍ध हो जाए।
ये भी पढ़ें
सफेद मूसली और काली मूसली क्या है, जानिए 10 फायदे