सावधान! निष्कासन से चलता है सेहत का पता

WD|
आपके शरीर से निष्कासित होने वाली वायु से आपकी का पता चलता है। जी हां, जानकर आपको भले ही अजीब लगे, लेकिन यह बात बिल्कुल सच है। वहीं शरीर से बाहर निकलने वाली वायु की गंध, आपके द्वारा खाए जाने वाले युक्त पदार्थों पर निर्भर करती है। इसलिए जब आप भोजन में गोभी, ब्रोकोली, कुछ उगे हुए अंकुरित अनाज या फिर सल्फर से भरपूर मांसाहार का सेवन करते हैं, तो आपके शरीर से जो वायु निष्कासित होती है, वह‍ दुर्गंध युक्त होती है।
एक साधारण मनुष्य दिनभर में लगभग 14 बार वायु का निष्कासन करता है। शरीर से वायु का इस प्रकार निष्कासन भले ही असभ्य या गलत माना जाता हो, लेकिन यह आपके तंत्र के स्वास्थ्य को दर्शाता है। अगर आप अपने शरीर से सही अनुपात में वायु का निष्कासन करते हैं, इसका मतलब है कि आपका पाचन तंत्र बिल्कुल स्वस्थ है और वह सही तरीके से कार्य कर रहा है।
 
असल में शरीर से निष्कासित होने वाली वायु निचली आंत में मौजूद बैक्टीरिया जनित और वायु का मिश्रण है, जो कि दूषि‍त है। यही कारण है कि‍ जिनके शरीर से वायु का निष्कासन तेज या भीषण तरीके से होता है वे उनकी उस डाइट को दर्शाता है जो बिल्कुल भी सेहतमंद नहीं होती। इसके अलावा यह भी दर्शाता है कि आपका शरीर या पाचन तंत्र लैक्टोज शर्करा को पचा पाने में असमर्थ है।


और भी पढ़ें :