नहाते हुए पुराना लूफाह इस्तेमाल करते हैं तो तुरंत फेंक दे, वर्ना संक्रमण का है खतरा

disadvantage of using old Loofah

नहाते हुए अपने शरीर की वह त्वचा व हिस्सा, जो केवल साबुन से साफ नहीं हो पाता, उसकी सफाई के लिए पुराने जमाने में लोग पत्थर का इस्तेमाल करते थे। अपने पैर की एड़ी व कोहनी की सफाई उन हिस्सों पर पत्थर रगड़कर कर लेते थे और बाकी शरीर को किसी कपड़े में साबुन लगाकर भी साफ किया करते थे।
इन्हीं सबकी जगह आज आसानी से इस्तेमाल होने वाले ने ले ली है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि रोज आपने बाथरूम में रखा यह लूफाह आपकी सेहत के लिए कितना खतरनाक साबित हो सकता है? यदि आप रोज लूफाह का इस्तेमाल करते है तो आपको इस्तेमाल में सावधानी बरतने की जरूरत है, वरना आपको कई तरह के संक्रमण हो सकते हैं। यह जानकारी पढ़ने के बाद आप अपना पूराना लूफाह तुरंत फेंक देंगे।
टीवी में कई ऐसे विज्ञापन आते हैं जिनमें मॉडल लुफाह लिए भीनी भीनी खुशबू वाला बॉडीवाश लगाती है। लूफाह तुरंत ही सभी जगह की गहरी सफाई कर देता है परंतु इसका असर इससे है कहीं अधिक और खतरनाक भी। जानिए आखिर कैसे लूफाह आपकी खूबसूरत त्वचा की इच्छा पर पानी फेर रहा है और आपकी स्किन को गहरा नुकसान पहुंचा रहा है।


क्यों करते हैं लूफाह का इस्तेमाल?लूफाह किसी जेल या बॉडीवाश लिक्विड को पूरी बॉडी पर आसानी से फैला देता है। इसके इस्तेमाल से बेहतर झाग बनता है। लूफाह खुरदुरापन लिए होता है इसलिए बॉडी पर स्क्रब की प्रक्रिया करता है। इससे शरीर के उपर की गंदगी निकल जाती है। लूफाह के इस्तेमाल से बेहतर सफाई की फीलिंग आती है। पसीने, मैल या अन्य गंदगी को लूफाह आसानी से साफ कर देता है। इसके अलावा शरीर पर फैलने वाले बैक्टेरिया से भी लूफाह निजात दिलाता है।
क्यों पाएं लूफाह से आज ही निजात?
स्किन विशेषज्ञ और एक्सपर्ट साफतौर पर मान चुके हैं कि लूफाह का इस्तेमाल है अतिहानिकारक। इससे आपकी त्वचा को फायदे से कहीं अधिक नुकसान हो रहा है।

क्यों हो रहा है लूफाह से त्वचा को नुकसान?
लूफाह पर जेल या लिक्विड फैलाने के बाद और पहले भी इसे गीला करना होता है। यह काफी देर तक गीला रहता है जिसके कारण इस पर बैक्टीरिया, कीटाणु और यीस्ट पैदा हो जाते हैं।

किस तरह होता है त्वचा को नुकसान?
लूफाह में पैदा हो चुके बैक्टेरिया, कीटाणु और यीस्ट आपके शरीर में झाग के सहारे फैल जाते है। आप लूफाह का इस्तेमाल शरीर के हर अंग पर करते हैं जहां से बैक्टीरिया कभी कभी पानी के इस्तेमाल से खत्म नहीं होते और आगे फैलते हैं। इस तरह से स्किन इंफेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है। इंफेक्शन के अलावा आपकी त्वचा पर मुहांसे फुंसियां भी हो सकती है।
लूफाह को चाहे रोज़ इस्तेमाल करें या कभी कभी, कुछ बातों का ध्यान रखकर आप इसका सुरक्षित इस्तेमाल कर सकते हैं। समस्या लूफाह में नमी के कारण पैदा होती है ऐसे में आप इसे पूरी तरह से सुखाएं। पंखे में और इससे भी बेहतर धूप में। धूप में लूफाह में पनपने वाले बैक्टेरिया खत्म हो जाएंगे और लुफाह का उपयोग सुरक्षित होगा। लूफाह को समय समय पर बदलें।




और भी पढ़ें :