Weight loss: वजन घटाने में मदद करेंगी ये 5 तरह की रोटियां

वजन कम करने के लिए जिम में रोज पसीना बहाते हैं और दूसरी ओर खाने-पीने की चीजें छोड़ देते हैं। इतना ही नहीं लोग रोटी खाना भी छोड़ देते हैं। ताकि जल्‍दी वजन कम हो सके। वजन घटाने वाले अक्‍सर ये भूल कर देते हैं कि उन्‍हें रोटी खाना नहीं छोड़ना है बल्कि रोटी खाने का तरीका बदलना। जी हां, वजन कम करने के लिए

गेंहू की रोटी का सेवन करने के लिए मना किया जाता है। तो आइए जानते हैं ये 5 तरह की अलग-अलग किस्‍म की चपाती खाकर आप अपना वजन भी कम कर सकते हैं और प्रोटीन की मात्रा भी बराबर रहेगी।

1. चोकर की रोटी
-
अगर आपको गेंह की रोटी ही पसंद है तो उसमें से चोकर नहीं निकाले। अक्‍सर गेंहू की रोटी आटा छानकर बनाई जाती है। गेंहू की रोटी बिना चोकर के बहुत अधिक फायदा नहीं करती है। उसमें मुख्‍य रूप से कार्ब्‍स, आयरन, विटामिन बी 6,थायमिन और कैल्शियम होता है। साथ ही इसमें फाइबर की मात्रा होती है।

2. जौ की रोटी - जौ में भरपूर मात्रा में बीटा-ग्‍लूटेन, पॉलीफेनोल्स, फाइटोस्‍टेरोल्‍स, डायट्री फाइबर मुख्‍य रूप से पाया जाता है। इसमें मौजूद यह पोषक तत्‍व वजन को कम करने में मदद करते हैं। बीटा-ग्‍लूटेन से भूख कम लगती है। इस प्रकार जौ की रोटी का सेवन किया जा सकता है।


3.मल्‍टीग्रेन रोटी - इस आटे में भरपूर मात्रा में फाइबर मौजूद होता है। जिससे कोलेस्‍ट्रॉल लेवल भी कम होता है। हार्ट के मरीज को मल्‍टी ग्रेन आटे से बनी रोटियों का सेवन करना चाहिए। आप घर पर कुछ इस तरह आटा तैयार कर सकते हैं। जैसे - दो किलो गेहूं में 100 ग्राम बाजरा, 100 ग्राम मक्‍का, 50 ग्राम रागी, 50 ग्राम ज्‍वार, 100 ग्राम जौ और 50 ग्राम सोयाबीन।
4.सोया रोटी - वयस्‍क के साथ बुजुर्ग लोग भी इस रोटी का सेवन कर सकते हैं। सोया रोटी में ओमेगा -3 फैटी एसिड के साथ ही विटामिन और खनिज भी भरपूर मात्रा में होता है। तेजी से वजन कम करने में सोया रोटी सप्‍ताह में 5 दिन जरूर खाना चाहिए।

5. बाजरा रोटी - बाजरे की रोटी में फाइबर बहुत होता है। साथ ही यह ग्‍लूटन फ्री होती है। जिससे वजन कम करने के साथ ही यह पेट की समस्‍या का भी निदान करती है। इसमें मौजूद प्रोटीन, मौग्‍नीशियम और जरूरी विटामिन युक्‍त होती है।



और भी पढ़ें :