महिलाएं कैसे पहचानें कि शरीर में हार्मोन असंतुलित हो गए हैं? जानिए लक्षण

5 symptoms of hormonal imbalance in female
महिलाओं के शरीर में उम्र के अलग-अलग दौर में में परिवर्तन होना सामान्य बात है, लेकिन कई बार उनका संतुलन बिगड़ जाता है। अगर सही समय पर इस समस्या को पहचान कर इस पर ध्यान नहीं दिया गया, तो ये अन्य सेहत समस्याएं
जन्म ले सकती है। आइए, जानते हैं कि शरीर में हार्मोन असंतुलित हो जाए तो किन लक्षणों से उन्हें पहचाने -


1 महिलाओं में मासिकधर्म के दौरान हार्मोन परिवर्तन होते है। सामान्यत: 21 से 35 दिन के अंदर शुरू होने वाला मासिक धर्म, यदि महीनों के अंतराल के बाद हो रहा हो या समय पर नहीं हो रहा हो, तो यह एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरॉन की अधि‍कता या कमी का नतीजा हो सकता है। इसके अलावा 40 से 50 की उम्र से पहले मेनोपॉज होना और मासिकधर्म का अनियमित होना, पॉलीस्ट‍िक ओवेरियन सिड्रोम के लक्षण हो सकते हैं।

2 अगर आप पर्याप्त नहीं ले पा रहे हैं या फिर नींद होने के बाद भी आप उससे संतुष्ट नहीं हैं तो आपके हार्मोन्स असंतुलित हो सकते हैं। ओवरी से स्त्रावित होने वाला हार्मोन प्रोजेस्टेरॉन आपको नींद लेने के लिए प्रेरित करता है। यदि इसका स्तर सामान्य से कम होता है, तो आपको नींद न आने की समस्या हो सकती है। इसके अलावा एस्ट्रोजेन की कमी से रात में पसीना आने की समस्या हो सकती है जिससे आपकी नींद प्रभावित होती है।

3 के समय सा उससे पहले चेहरे पर मुंहासों का होना और बाद में ठीक हो जाना सामान्य है। लेकिन यदि यह मुंहासे आपके चेहरे से हटने का नाम ही न लें, तो यह हार्मोन्स का असंतुलन हो सकता है। खास तौर से मेल हार्मोन एंड्रोजेन, जो महिलाओं और पुरूषों दोनों में पाया जाता है, आपकी तेल ग्रंथि‍ को अत्यधि‍क सक्रिय कर सकता है, जिससे यह समस्या हो सकती है। इसके अलावा चेहरे पर बाल होना भी इसी का नतीजा हो सकता है।

4 यदि आप हर समय महसूस करते हैं, तो यह सामान्य तौर पर हार्मोन्स के असंतुलन का कारण भी हो सकता है। प्रोजेस्टेरॉन की अधि‍कता आपको हर समय नींद और थकान महसूस करने के लिए प्रेरित करता है। वहीं थाइरॉइड ग्रंथि थॉइरॉक्स‍िन का स्त्राव बहुत कम मात्रा में करती है, तो आप ऊर्जा में कमी महसूस करते हैं।

5
अगर आपका आप अपने में अचानक निराशा, या चिड़चिड़ेपन का अनुभव करते हैं, तो यह एस्ट्रोजेन के स्तर में कमी के कारण भी हो सकता है। यह स्थि‍ति आपको आवश्यकता से अधि‍क खाने के लिए भी प्रेरित करती है। साथ ही आपका भी तेजी बढ़ सकता है। वहीं कुछ स्थि‍तियों में वजन का तेजी से कम होना भी हार्मोन के असंतुलित होने का लक्षण हो सकता है।

 

और भी पढ़ें :