क्या ओमिक्रॉन के लक्षण बदल रहे हैं? जानें ओमिक्रॉन के 20 लक्षण कौन से हैं


देश में कोविड की तीसरी लहर की संभावना कम नहीं हुई है। देश में कोविड के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। लेकिन कोविड के डेल्टा वैरिएंट और

ओमिक्रॉन के लक्षण में बहुत समानताएं भी है और कुछ लक्षण नहीं भी मिलते हैं। एक तरफ जहां कोविड में डेल्टा वैरिएंट के लक्षण स्पष्ट हो
गए थे लेकिन ओमिक्रॉन के कई सारे लक्षण है। जिन्हें समझना बहुत मुश्किल है। हाल ही में एक रिपोर्ट में यह ओमिक्रॉन के 20 लक्षणों की
पुष्टि हुई है। जानिए क्‍या है वे-

यूके की जों कोविड स्टडी में के बारे में जानकारी दी है। जिसके साथ यह भी बताया गया है कि कौन से लक्षण कब तक बने रहतेहैं।



- नाक बहना, सिर दर्द, चक्कर आना, थकान, छींक आना, गले में खराश, लगातार खांसी, कर्कश आवाज, ठंड लगना या कंपकंपी, बुखार, चक्कर
आना, ब्रेन फॉग, मांसपेशियों, गंध की कमी, सीने में दर्द, स्किन रैशेज, कमजोरी, ग्रंथियों में सूजन, बुखार, भूख नहीं लगना,

कब तक रहते हैं लक्षण - एक्सपर्ट के मुताबिक ओमिक्रॉन के लक्षण डेल्टा की तुलना में तेज गति से दिखाई देते हैं, और इनका इनक्‍यूबेशनपीरियड भी कम होगा। ओमिक्रॉन के मरीजों में संक्रमित होने के बाद लक्षण 2 से 5 दिन तक नजर आते हैं।


ब्रिटिश एपिडेमोलॉजिस्ट टिम
स्‍पेक्‍टर के मुताबिक आमतौर पर जुकाम जैसे लक्षण ओमिक्रॉन के ही है जो लंबे वक्त तक रहते हैं। लेकिन कोविड नियमों का पालन करने से उन पर काफी फर्क पड़ गया। वैक्सीनेटेड लोगों में यह लक्षण काफी हल्के हैं। हालांकि ओमिक्रॉन उन लोगों पर भारी पड़ रहा है उन्होंने वैक्सीन कीएक भी डोज नहीं लगवाई।

कोविड के लक्षण दिखने पर क्या करें?

के संक्रमण का पता लगाने के लिए सबसे पहले RT-PCR टेस्ट कराएं। इसलिए जब भी आपके अंदर ये लक्षण दिखे तो जल्द से
जल्द अपनी जांच कराएं। जिन लोगों में सर्दी के लक्षण दिखते हैं उन्हें सबसे पहले कोविड की जांच कराने के लिए कहा जाता है। ताकि संक्रमण सेबचा जा सके। साथ ही टेस्‍ट रिपोर्ट नहीं आने तक आप घर में क्‍वारंटाइन ही रहे।



और भी पढ़ें :