किसान आंदोलन : प्रतिबंधित क्षेत्र में प्रदर्शन करने पर तेजस्वी समेत 20 के नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज

Last Updated: रविवार, 6 दिसंबर 2020 (00:05 IST)
पटना। नए कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ दिल्ली समेत देशभर में आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की ओर से प्रतिबंधित इलाके में प्रशासन की अनुमति के बिना धरना और कोविड नियमों का उल्लंघन किए जाने के आरोप में नेता प्रतिपक्ष समेत 20 नेताओं और करीब 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।
ALSO READ:
किसानों के समर्थन में सिंघू बॉर्डर पहुंचे दिलजीत दोसांझ, बोले- ट्‍विटर पर चीजों को घुमाया जाता है मुद्दों को न भटकाएं
गांधी मैदान थाना प्रभारी रणजीत कुमार वत्स ने यहां बताया कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की अगुवाई में शनिवार को गांधी मैदान में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष धरना दिया गया जबकि प्रशासन की ओर से इसकी अनुमति नहीं दी गई थी। इसके बाद भी गांधी मैदान के गेट नंबर 4 पर ही तेजस्वी यादव के नेतृत्व में कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए। पुलिस ने उन्हें हटाने की काफी कोशिश की लेकिन वे नहीं माने। इसी मामले में यादव के साथ ही धरना में शामिल प्रमुख नेताओं और अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।
जिन 20 प्रमुख नेताओं के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई है, उनमें तेजस्वी यादव के अलावा राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, पूर्व मंत्री श्याम रजक, रमई राम, आलोक मेहता और वृषिण पटेल, विधायक डॉ. रामानंद यादव तथा वरिष्ठ नेता शक्तिसिंह यादव, मृत्युंजय तिवारी, अनिल कुमार, मदन शर्मा, रामबली चंद्रवंशी, सुबोध कुमार यादव, संजय यादव, उर्मिला ठाकुर, अनिता देवी, केडी यादव, चंदेश्वर सिंह और रामनरेश पांडेय शामिल हैं। (वार्ता)



और भी पढ़ें :