बिगफुट कर रहा है मानव की तबाही का इंतजार?

अनिरुद्ध जोशी|
वैज्ञानिक शोधों से पता चला कि बिगफुट (यति) या तो धरती के असली मानव हैं जबकि मानव की संतानें, लेकिन यह भी हो सकता है कि एलियंस यहां आए और उन्होंने इंसानों तथा चिंपाजियों के जीन को मिलाकर एक नई प्रजाति पैदा की जिसे आज हम बिगफुट कहते हैं।

लेकिन कुछ वैज्ञानिक यह भी मानते हैं कि दरअसल धरती के असली इंसान तो बिगफुट ही हैं और जहां तक सवाल आज के आधुनिक इंसान का है तो यह अभी तक रहस्य है कि यह बना कैसे और इसका पूर्वज कौन था? दरअसल, इंसान ही है आकाश से आए उन लोगों की संतान, जो आज 'एलियंस' कहलाते हैं। हालांकि कुछ शोधकर्ता 'बिगफुट' के बारे में भी ऐसा ही कहते हैं।

उनका मानना है 'एलियंस' ने वानर और अपने खुद के जीन से मिलाकर बिगफुट बनाया है। यह मिश्रित जाति का परिणाम है और वे अपने इस बनाए गए जीव को देखने के लिए समय-समय पर आते रहे हैं।
शोधकर्ता कहते हैं कि दुनियाभर में बिगफुट को देखे जाने की घटना तभी खबरों में आई जबकि यूएफओ आने की खबरें भी अखबारों में थीं। कुछ लोगों ने यह भी कहा कि हमने उड़नतश्तरी के पास बिगफुट को देखा है। इसी तरह की एक घटना 1980 में वाशिंगटन के पास घटी जबकि एक महिला ने यूएफओ को धरती पर उतरते देखा और वह जहां उतरा था वहीं हमें गोरिल्ला जैसा आदमी भी दिखाई दिया।

अगले पन्ने पर जानिए कहां रहता है बिगफुट...




और भी पढ़ें :