0

गांधी जी ने 31 जुलाई 1933 को साबरमती आश्रम क्यों छोड़ा था, जानिए इतिहास

शनिवार,जुलाई 31, 2021
0
1
लद्दाख में पैंगोंग झील के तट पर अक्सर भारत और चीन के सैनिक आमने सामने आ जाते हैं। वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास हॉट स्प्रिंग्स, गोग्रा और डेपसांग क्षेत्रों पर अक्सर तनातनी होती है। दोनों देशों की सेनाओं के बीच पैंगोंग झील क्षेत्र में पिछले साल 5 मई ...
1
2
1971 में भारतीय सेना के हाथों हुई पाकिस्तान की करारी हार के उपरांत पाकिस्तान के तत्कालीन पाक प्रधानमंत्री जुल्फीकार अली भुट्टो ने कहा था कि पाकिस्तान कश्मीर को पाने के लिए भारत से 1,000 साल तक लड़ सकता है। लेकिन पाकिस्तानी सेना भड़की हुई थी। उसने ...
2
3
उत्तर प्रदेश में पिछले साढे चार साल से शासन कर रही भारतीय जनता पार्टी की सरकार और उसके मुखिया अजय सिंह बिष्ट उर्फ योगी आदित्यनाथ को अचानक इलहाम हुआ है कि प्रदेश की आबादी बेतहाशा बढ़ रही है जिसकी वजह से न तो सूबे का विकास हो पा रहा है और न ही ...
3
4
अफगानिस्तान में हिन्दूकुश नाम का एक पहाड़ी क्षेत्र है जिसके उस पार कजाकिस्तान, रूस और चीन जाया जा सकता है। अफगानिस्तान की सीमा भारत, पाकिस्तान और ईरान से भी लगी हुई है। इसीलिए यह स्थान जहां रशिया और अमेरिका के लिए महत्वपूर्ण है वहीं चाइना की भी इस ...
4
4
5
सीधी भाषा में कहें तो बलूचिस्तान के दक्षिण-पूर्वी हिस्से पर ईरान, दक्षिण-पश्चिमी हिस्से पर अफगानिस्तान और पश्चिमी भाग पर पाकिस्तान ने कब्जा कर रखा है। सबसे बड़ा हिस्सा तकरीबन पाकिस्तान के कब्जे में है। प्राकृतिक संसाधनों से भरपूर इस संपूर्ण क्षेत्र ...
5
6
भारत में मानसून को लेकर मौसम विभाग का अनुमान या भविष्यवाणी आमतौर पर गलत ही साबित होती है। इसलिए इस बार भी ऐसा हो रहा है तो कोई आश्चर्य नहीं। इस बार भी मौसम विभाग ने मानसून समय पर आने की भविष्यवाणी करते हुए 104 से 110 फीसदी वर्षा की संभावना जताई है। ...
6
7
सुप्रीम कोर्ट और देश के कुछ उच्च न्यायालयों ने नागरिक अधिकारों और उनके संरक्षण की लड़ाई में जुटे कार्यकर्ताओं, सरकारों के द्वारा क़ानून की विभिन्न धाराओं के तहत उनकी गिरफ्तारियों आदि को लेकर पिछले कुछ महीनों के दौरान महत्वपूर्ण फैसले सुनाए हैं। इन ...
7
8
भारतीय राजनीति इस समय अपने इतने निकृष्टतम दौर से गुजर रही है कि वह देश की समस्याओं का समाधान करने के बजाय खुद अपने आप में एक गंभीर समस्या बन चुकी है। किसी भी लोकतंत्र के लिए इससे ज्यादा बुरा दौर और क्या हो सकता है कि जब महंगाई पूरी तरह लूट में ...
8
8
9
ग़ैर-भाजपाई विचारधारा वाले दलों से चुनिंदा नेताओं को भाजपा में शामिल कर विपक्षी सरकारों को गिराने या चुनाव जीतने की कोशिशों पर जताई जाने वाली नाराज़गी और नज़रिए में थोड़ा-सा बदलाव कर लिया जाए तो जो चल रहा है, उसे बेहतर तरीक़े से समझा जा सकता है। ...
9
10
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने दूसरे कार्यकाल के 2 वर्ष पूरे कर चुके हैं लेकिन इन 2 सालों में वे अपने मंत्रिपरिषद को भी पूरी तरह आकार नहीं दे पाए हैं। उनकी सरकार का तीसरा साल शुरू हो चुका है लेकिन अभी भी आधी-अधूरी मंत्रिपरिषद से ही काम चल रहा है। ...
10
11
उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी का सियासी संग्राम निर्णायक दिशा में बढ़ रहा है। सर्वशक्तिमान नरेंद मोदी को सीधी चुनौती देकर योगी आदित्यनाथ ने सात लोक कल्याण से लेकर केशव कुंज तक को हलकान कर दिया है। असली लड़ाई सिर्फ़ लखनऊ तक सीमित नहीं है बल्कि ...
11
12
दुनिया के तमाम देशों में भारत ही एकमात्र ऐसा देश है जिसकी सरकार ने कोरोना की वैश्विक महामारी से निबटने के सिलसिले में हर फैसला अपने राजनीतिक नफा-नुकसान को ध्यान में रखकर और अपनी छवि चमकाने के मकसद से किया है। यही वजह है कि इस समय देश में चौतरफा ...
12
13
प्रकृति ने जल और जंगल के रूप में मनुष्य को 2 ऐसे अनुपम उपहार दिए हैं जिनके सहारे कई दुनिया में कई सभ्यताएं विकसित हुई हैं, लेकिन मनुष्य की खुदगर्जी के चलते इन 2 नों ही उपहारों का तेजी से क्षय हो रहा है। पानी के संकट को स्पष्ट तौर पर दुनियाभर में ...
13
14
4 जून इंटरनेशनल डे ऑफ इनोसेंट चिल्ड्रन विक्टिम्स ऑफ अग्रेशन यानी दुनिया भर में हिंसा का शिकार हुए बच्चों का अंतराष्ट्रीय दिवस मनाया जाता है। फिर चाहे यह अग्रेशन यानी आक्रामक व्यवहार उन्हें समाज में मिलता हो, घर में मिलता हो या विद्यालय में मिलता हो। ...
14
15
केंद्र सरकार के बनाए 3 कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसानों के आंदोलन को 6 महीने पूरे हो चुके हैं। यह आंदोलन न सिर्फ मोदी सरकार के कार्यकाल का, बल्कि आजाद भारत का ऐसा सबसे बड़ा आंदोलन है, जो इतने लंबे समय से जारी है। देश के कई राज्यों के किसान ...
15
16
भारत में नौकरशाही तो राजनीतिक सिस्टम का हिस्सा बहुत पहले से बनती रही है। आर्थिक, वैदेशिक और रक्षा मामलों के विशेषज्ञ और सलाहकार भी सरकार के शीर्ष राजनीतिक नेतृत्व की भाव-भंगिमा के अनुरूप सलाह देते रहे हैं, लेकिन कोरोना महामारी के दौर में यह पहली बार ...
16
17
वैश्विक महामारी का इतिहास का इतिहास बहुत ही लंबा चौड़ा है। प्राचीन काल में तो कई तरह की अज्ञात रोगों का जन्म होता था जिनका तो आज तक कोई नाम भी नहीं जानता है। बस यही जानते हैं कि उस काल में महामारी फैली थी जिसके चलते लाखों लोग मारे गए हैं। आजकल ...
17
18
एक तरफ दुनिया के दुनिया के तमाम छोटे-बड़े और अमीर-गरीब सभ्य देश हैं जिन्होंने भारत में कोरोना महामारी के चलते अस्पतालों में मरीजों की भीड़, ऑक्सीजन और जरूरी दवाओं के अभाव में असमय दम तोड़ रहे लोगों, श्मशान में अंतिम संस्कार के लिए लगीं कतारों, जलती ...
18
19
अंतरराष्ट्रीय रेड क्रॉस दिवस हर साल 8 मई को मनाया जाता है। इसके संस्थापक हेनरी ड्यूनेंट के जन्मदिन पर यह दिन मनाया जाता है। हेनरी ड्यूमेंट के प्रयासों से 1864 में जेनेवा समझौते
19