कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत की मदद के लिए 37 करोड़ रुपए दान देगी Samsung

Last Updated: मंगलवार, 4 मई 2021 (19:58 IST)
नई दिल्ली। इलेक्ट्रॉनिक उपभोक्ता उपकरण बनाने वाली कोरियाई कंपनी सैमसंग ने कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के खिलाफ की लड़ाई में योगदान देने के लिए केंद्र सरकार और राज्‍य सरकारों को 50 लाख डॉलर अर्थात 37 करोड़ रुपए की सहायता एवं अस्‍पतालों के लिए आवश्‍यक चिकित्‍सा उपकरणों के साथ हेल्‍थकेयर सेक्टर को समर्थन देने की घोषणा की है।
ALSO READ:
कोरोना के बढ़ते संक्रमण से सेंसेक्स 465 अंक लुढ़का, निफ्टी भी 14500 के नीचे आया

कंपनी ने आज मंगलवार को यहां कहा कि यह निर्णय भारत में विभिन्‍न हितधारकों के साथ विचार-विमर्श करने
और स्‍थानीय प्रशासन की तत्‍काल आवश्‍यकता का आकलन करने के बाद लिया गया है। सैमसंग केंद्र सरकार के साथ ही उत्तरप्रदेश एवं तमिलनाडु को 30 लाख डॉलर का दान देगी। इसके अलावा हेल्‍थकेयर सिस्‍टम की के लिए सैमसंग 20 लाख डॉलर की चिकित्‍सा सामग्री उपलब्‍ध कराएगी जिसमें 100 ऑक्‍सीजन कंसन्ट्रेटर, 3,000 ऑक्‍सीजन सिलेंडर और 10 लाख एलडीसी सीरिंज शामिल हैं। ये सामग्री उत्तरप्रदेश और तमिलनाडु को उपलब्‍ध कराई जाएगी।


एलडीएस या लो डेड स्‍पेस सीरिंज इंजेक्‍शन के बाद डिवाइस में बचने वाली दवा की मात्रा को न्‍यूनतम बनाती है जिससे वैक्‍सीन का अधिकतम उपयोग सुनिश्चित होता है। मौजूदा सीरिंज में उपयोग के बाद बहुत अधिक मात्रा में दवा रह जाती है और बर्बाद होती है। नई टेक्‍नोलॉजी ने 20 प्रतिशत तक अधिक दक्षता का प्रदर्शन किया है। यदि मौजूदा सीरिंज से 10 लाख खुराक दिए जाते हैं, वहीं एलडीएस सीरिंज वैक्‍सीन की समान मात्रा के साथ 12 लाख खुराक दे सकती है। सैमसंग ने इन सीरिंज के विनिर्माताओं को उत्‍पादन बढ़ाने के लिए मदद प्रदान की है।
अपनी नागरिक पहल के हिस्‍से के रूप में सैमसंग भारत में अपने 50,000 से अधिक पात्र कर्मचारियों और लाभार्थियों को टीकाकरण खर्च को वहन करेगी। इसमें सभी सैमसंग एक्‍सपीरियंस कंसल्‍टेंट्स, जो पूरे देश में इलेक्‍ट्रॉनिस रिटेल स्‍टोर्स पर काम करते हैं, शामिल होंगे। (वार्ता)



और भी पढ़ें :