कोरोनाकाल में यह कैसा फाग उत्सव! जवाब देने से बचे SDM

पुनः संशोधित गुरुवार, 25 मार्च 2021 (20:06 IST)
सुरभि भटेवरा

आलोट। देश में इन दिनों एक बार फिर से चरम पर है। कोरोना महामारी को एक वर्ष हो चुका है। 2021 मार्च महीने में भी यही हाल है। एक बार फिर से देश के कई राज्यों में लॉकडाउन की नौबत बन रही है, लेकिन परिस्थिति को दरकिनार किया जा रहा है। जिम्मेदार अधिकारी नियमों के उल्लंघन के सवाल पर बचते नजर आते हैं। आलोट क्षेत्र में तीन दिवसीय बाबा का रंग रंगीला हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है।
ALSO READ:
इस देश ने AstraZeneca के टीके पर पाबंदी को 3 महीने और बढ़ाया
शिवराज सरकार ने में संडे लॉकडाउन का ऐलान किया है। तीन दिवसीय आयोजन में हजारों की तादाद में भक्तजन बाबा खाटू श्याम के दर्शन करने पहुंच रहे हैं। ऐसे कठिनतम समय में किसी प्रकार के कोरोना नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। कुछ ही लोग मास्क का प्रयोग कर रहे हैं। सवाल यह उठता है कि कोरोनावायरस जैसी महामारी को कैसे हराया जाए?
कांग्रेस विधायक मनोज चावला ने वेबदुनिया से चर्चा कर कहा कि कोरोना की गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है, मास्क लगाया जा रहा है, कलेक्टर द्वारा दी गई गाइडलान के मुताबिक पालन हो रहा है। ये सब सरकार का है असम, तमिलनाडु में कोरोना नहीं फैल रहा है केवल राजनीति कर रहे हैं।
अनुमति प्रशासन ने दी है, यह उन्हें देखना चाहिए। एसडीएम राजेश शुक्ला द्वारा कहा गया कि वहां पर सिर्फ दर्शन किए जा रहे हैं और कोविड नियमों का पालन किया जा रहा है। इतना बोलने के बाद एसडीएम जवाब देने से बचते रहे।
गौरतलब है कि रतलाम जिलें में भी कोरोना संक्रमण रफ्तार पकड़ने लगा है। वर्तमान में रतलाम क्षेत्र में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 366 पर पहुंच गया है। अभी तक 86 लोगों की मौत हो चुकी है।



और भी पढ़ें :