Corona virus : मप्र में ओंकारेश्वर व महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर भक्तों के लिए बंद किए

पुनः संशोधित शनिवार, 21 मार्च 2020 (15:11 IST)
उज्जैन/ खंडवा (मप्र)। के खतरे को देखते हुए मध्यप्रदेश में स्थित 2 प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंगों और महाकालेश्वर में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर 31 मार्च तक प्रतिबंध लगा दिया गया है।
देश में भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से 2 मध्यप्रदेश में हैं। महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग उज्जैन तथा ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग खंडवा जिले के ओंकारेश्वर में स्थित है। इन दोनों ज्योतिर्लिंगों में प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं।

उज्जैन जिला कलेक्टर शशांक मिश्रा ने शनिवार को बताया कि कोरोना वायरस के खतरे के देखते हुए महाकालेश्वर मंदिर सहित शहर के सभी मंदिरों में श्रद्धालुओं का प्रवेश पर 31 मार्च तक प्रतिबंध लगा दिया गया है।
उन्होंने बताया कि हालांकि शहर में अब तक कोरोना वायरस का कोई मामला सामने नहीं आया है लेकिन मंदिरों में भक्तों के प्रवेश पर प्रतिबंध का निर्णय एहतियात के तौर पर लिया गया है। इससे पहले सोमवार को मंदिर प्रशासन ने महाकालेश्वर मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया था।
उधर खंडवा जिले के पुनासा की अनुविभागीय अधिकारी (एसडीएम) ममता खेड़े ने शुक्रवार को ओंकारेश्वर मंदिर के पुजारियों के साथ बैठक की। ओंकारेश्वर मंदिर खंडवा जिला मुख्यालय से लगभग 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।
बैठक के बाद खेड़े ने बताया कि 31 मार्च तक ओंकारेश्वर मंदिर में भक्तों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने इस अवधि के दौरान श्रद्धालुओं को ओंकारेश्वर नहीं आने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि प्रतिबंध के अवधि में पुजारी मंदिर में दैनिक आरती और अन्य अनुष्ठान हमेशा की तरह करते रहेंगे।

ओंकारेश्वर, उज्जैन से लगभग 138 किलोमीटर दूरी पर है। पुनासा के एसडीएम ने बताया कि मंदिर में प्रवेश पर प्रतिबंध की अवधि के दौरान ओंकारेश्वर शहर में वाहनों का प्रवेश भी प्रतिबंधित किया गया है।
इससे पहले शुक्रवार को मध्यप्रदेश में पहली दफा जबलपुर में कोरोना संक्रमण के 4 मामले सामने आए हैं। जांच के बाद जबलपुर में 4 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। इनमें से 3 लोग दुबई तथा 1 व्यक्ति जर्मनी से यात्रा कर जबलपुर वापस लौटा है।
मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस से बचाव के उपायों के तहत स्कूलों, सिनेमा हॉल, संग्रहालयों, नेशनल पार्क, टाइगर रिजर्व और मॉल को कर दिया गया है, वहीं मध्यप्रदेश से महाराष्ट्र व राजस्थान के बीच बस सेवा को भी 31 मार्च तक स्थगित कर दिया गया है।



और भी पढ़ें :