भारत का वैक्सीनेशन में रिकॉर्ड, 71 करोड़ से ज्यादा लोगों को लगा कोरोना का टीका

पुनः संशोधित बुधवार, 8 सितम्बर 2021 (23:31 IST)
नई दिल्ली। ने बुधवार को कहा कि देश में अब तक लगाए गए कोरोनावायरस (Coronavirus)कोविड-19-रोधी टीके की कुल खुराक 71 करोड़ को पार कर गई है। बुधवार शाम सात बजे तक 73 लाख (73,80,510) से अधिक खुराक दी गई। हालांकि देर रात तक आने वाली अंतिम रिपोर्ट के आने तक दैनिक टीकाकरण संख्या बढ़ने की उम्मीद है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि को 10 करोड़ टीकाकरण के आंकड़े तक पहुंचने में 85 दिन, 20 करोड़ का आंकड़ा पार करने में 45 दिन और 30 करोड़ तक पहुंचने में 29 दिन लगे। देश को 30 करोड़ खुराक से 40 करोड़ टीकाकरण तक पहुंचने में 24 दिन लगे और फिर 6 अगस्त को 50 करोड़ टीकाकरण को पार करने में 20 दिन और लगे।
ALSO READ:
: तीसरी लहर को लेकर चेतावनी, गृह मंत्रालय के पैनल ने PMO को सौंपी रिपोर्ट
मंत्रालय ने कहा कि 60 करोड़ के आंकड़े को पार करने में 19 और दिन लगे और 8 सितंबर को 70 करोड़ तक पहुंचने में केवल 13 दिन लगे। देश में सबसे संवेदनशील समूहों को से बचाने के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान की नियमित रूप से समीक्षा की जा रही है और उच्चतम स्तर पर निगरानी की जा रही है।

डब्यल्यूएचओ का आह्वान बूस्टर से करें परहेज : विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख ने कोरोनावायरस टीकों की बड़ी आपूर्ति वाले अमीर देशों से वर्ष के अंत तक बूस्टर खुराकें देने से परहेज करने का आह्वान किया है।
डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम गेब्रयिसस ने बुधवार को यह भी कहा कि वह दवा निर्माताओं के एक प्रमुख संघ की टिप्पणियों पर 'हैरान' हैं, जिन्होंने कहा है कि वैक्सीन की आपूर्ति इतनी अधिक है कि उन देशों में बूस्टर खुराक और टीकाकरण दोनों की अनुमति दी जा सकती है, जिन्हें टीकों की सख्त जरूरत तो है, लेकिन वे इनकी कमी का सामना कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि 'मैं टीके की वैश्विक आपूर्ति को नियंत्रित करने वाली कंपनियों और देशों की इस भावना पर चुप नहीं रहूंगा कि दुनिया के गरीब देशों को बची हुई खुराकों से संतुष्टि करनी चाहिए। टेड्रोस ने पहले सितंबर के अंत तक बूस्टर खुराकें देने से परहेज करने का आह्वान किया था, लेकिन अमेरिका और अन्य देश खुराकें देना शुरू कर चुके हैं या संवेदनशील लोगों को खुराकें देने की योजना पर विचार कर रहे हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :