मुंबई में Corona की तीसरी लहर की दस्तक, वेबदुनिया से बातचीत में मेयर किशोरी पेडनेकर ने लोगों को चेताया

रूना आशीष| Last Updated: बुधवार, 8 सितम्बर 2021 (17:46 IST)
मुंबई की मेयर ने कहा कि (Coronavirus) की के बारे में मैं इतना ही बोल सकती हूं कि वह अभी दहलीज पर है। लेकिन, आसपास के माहौल को देखते हुए हमें चौकन्ना रहना बहुत जरूरी है। चाहे कोलकाता की बात कर लें या फिर केरल की, वहां मामले बढ़ रहे हैं। महाराष्ट्र के मंत्री नितिन
राउत ने भी नागपुर के लिए कहा है कि वहां तीसरी लहर पहुंच चुकी है। ऐसे में बहुत सावधानी बरतने की जरूरत है।

वेबदुनिया से खास बातचीत में मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा कि हमने बहुत ज्यादा ध्यान वैक्सीनेशन पर दिया है। इस बात पर दिया है कि जैसे दूसरी लहर अचानक से आ गई थी। मेरे अपने ही वार्ड की बात करूं तो हमने महिलाओं और युवतियों को मिलाकर 1200 वैक्सीनेशन 1 दिन में कर दिए। मुंबई महानगर पालिका की बात करूं तो एक करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा हम पार कर चुके हैं। हालांकि दूसरी लहर अचानक से आई थी, लेकिन तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए वैक्सीनेशन पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है।
माझा घर माझा बाप्पा : मुंबई में गणेशोत्सव से जुड़े प्रश्न पर पेडनेकर ने कहा कि हम सारे राजनेता चाहे वे किसी भी पार्टी के हों, किसी भी जगह के हों, सभी लोग यही कह रहे हैं की सावधानी बरतें। हम खुद सावधानी नहीं बरतेंगे तो मुश्किल होगी। ऐसे में हम सभी से दरख्वास्त करते हैं कि गणेशोत्सव घर पर ही मनाएं। अर्थात 'माझा घर माझा बाप्पा यानी मेरा घर और मेरे गणपति बप्पा'। इस बात का खास ध्यान रखें।

उन्होंने कहा कि पूरे उत्साह और जोश के साथ घर में गणेशोत्सव मनाएं। जब आपको भीड़भाड़ वाली जगह जाना जरूरी हो तो दो-दो मास्क लगाकर जाएं। किशोरी ने कहा कि इसकी हम सभी को जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी।

मुंबई में वैक्सीनेशन 1 करोड़ के पार : उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कई कंपनियों से सीएसआर के तहत मुफ्त में वैक्सीन मुहैया कराने की कही है। हालांकि हमें केन्द्र सरकार से भी मदद मिलती है, लेकिन वह पर्याप्त नहीं है। कई बार 3-4 दिन तक वैक्सीनेशन सेंटर वैक्सीन के अभाव में बंद हो जाते हैं। ऐसे में कई कंपनियां चाहे वह रिलायंस हो, रेमंड हो या फिर जसलोक हो, सभी आगे आई हैं और मुफ्त में वैक्सीनेशन करवाया है। हम अलग-अलग लॉट में यह वैक्सीनेशन कर रहे हैं और इसी तरह से हम लोगों ने मुंबई में एक करोड़ का आंकड़ा पार किया है।

उन्होंने कहा कि लोगों को वैक्सीन के पहले और दूसरे डोज लग चुके हैं। लेकिन, ऐसे भी कई लोग हैं, जिन्हें डबल डोज के बाद भी तकलीफ हुई है, ऐसे में आवश्यक है कि ज्यादा से ज्यादा सावधानी बरती जाए। उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे समेत सभी जिम्मेदार लोगों को पता है कि पेट पालने के लिए काम-धंधा जरूरी है, लेकिन उससे कई गुना ज्यादा जरूरी है लोगों का जीवन।
...ताकि कोई बच्चा अनाथ न हो : किशोरी ने कहा कि जिनके घर में माता-पिता, पत्नी या पति गुजर गए हैं, उनसे पूछें कि कोरोना कितना भयानक है? उन्होंने कहा कि एक और विषय पर ध्यान दिलाना चाहती हूं कि महाराष्ट्र में कोरोना के चलते कई बच्चे अनाथ हुए हैं। इसकी ओर किसी का भी ध्यान नहीं गया। लेकिन, आघाड़ी सरकार और हमारी सुप्रिया ताई ने इन बच्चों की मदद के लिए अपना हाथ बढ़ाया है। ऐसे में बचाव के लिए हर कदम उठाया जाना चाहिए। ताकि आने वाले समय में बच्चों को परेशानी ना हो और कोई अनाथ ना हो।

मुंबई में बढ़ रहे हैं मामले : उल्लेखनीय है कि मुंबई में कोरोना के साप्ताहिक केसों में करीब 19% की बढ़ोतरी हुई है। 10 सितंबर से शुरू होने जा रहे गणेशोत्सव के चलते एक बार फिर संक्रमण बढ़ने का खतरा मंडरा रहा है। बीएमसी ने न सिर्फ लोगों को इस संबंध में चेताया है बल्कि गणेश पंडालों में जाने पर भी रोक लगा दी है। अगस्त के पहले सप्ताह से तुलना करें तो कोरोना के आंकड़े करीब 18 फीसदी ज्यादा हैं। 1 अगस्त से 7 अगस्त के बीच मुंबई में 2 हजार 413 नए मामले सामने आए थे, जबकि सितंबर के पहले सप्ताह में 2 हजार 939 मामले सामने आए हैं।



और भी पढ़ें :