COVID-19 : भारत को रूस से मिली Sputnik Vaccine की पहली खेप

Last Updated: रविवार, 2 मई 2021 (00:09 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क (सीबीआईसी) बोर्ड के मुताबिक भारत को शनिवार को से की पहली खेप मिली। सीबीआईसी ने एक ट्वीट में कहा कि हैदराबाद सीमा शुल्क ने रूस से आयातित कोरोनावायरस (Coronavirus) वैक्सीन की खेप की निकासी की प्रक्रिया तेजी से निपटाई।
सीबीआईसी ने ट्वीट किया, हैदराबाद सीमा शुल्क ने रूस से आयातित स्पूतनिक वी वैक्सीन को शीघ्र निकासी की सुविधा दी। इस पर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट में कहा, हैदराबाद सीमा शुल्क, समय पर समुचित कार्य। वक्त की मांग है ये।
ALSO READ:
: घर से निकलें तो ये बातें ध्यान में रखें
सरकार ने पिछले महीने कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकने के लिए आयातित टीकों के आपातकालीन उपयोग की अनुमति दी थी और उनके आयात पर सीमा शुल्क को माफ कर दिया था। सरकार ने एक मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों के टीकाकरण की अनुमति भी दी है।
रूस ने 11 अगस्त 2020 को कोरोनावायरस की वैक्सीन स्पूतनिक वी को मंजूरी दी थी। इसके बाद सितंबर में डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज और रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) ने स्पुतनिक वी के चिकित्सकीय परीक्षण के लिए एक समझौता किया था।

डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज ने कहा कि रूसी वैक्सीन की 1.5 लाख खुराक की पहली खेप हैदराबाद पहुंच गई है। रूस ने 11 अगस्त 2020 को कोरोनावायरस की वैक्सीन स्पूतनिक वी को मंजूरी दी थी। इसके बाद सितंबर में डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज और रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) ने स्पुतनिक वी के चिकित्सकीय परीक्षण के लिए एक समझौता किया था।हैदराबाद स्थित कंपनी ने कहा कि इसके बाद अगले कुछ हफ्तों में अगली खेप आ जाएगी।

डॉ. रेड्डीज को रूसी वैक्सीन के नियंत्रित आपातकालिक उपयोग की अनुमति पहले ही मिल चुकी है। शनिवार को भारत में कोविड19 संक्रमण के 4.01 लाख नए मामले सामने आए जो एक रिकॉर्ड है। इसके साथ 3,523 लोगों की कोराना से मौत की भी सूचना है।(भाषा)



और भी पढ़ें :