Covaxin तीसरे फेज के ट्रायल में 77 प्रतिशत तक कारगर, SEC को सौंपे गए डेटा

Last Updated: मंगलवार, 22 जून 2021 (21:34 IST)


नई दिल्ली। देश के केंद्रीय औषधि प्राधिकरण के विशेषज्ञों की एक समिति ने भारत बायोटेक कंपनी के कोविड टीके- के तीसरे चरण के परीक्षण के आंकड़ों की समीक्षा की और उसे स्वीकार कर लिया है। सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हैदराबाद स्थित कंपनी द्वारा पेश किए गए आंकड़ों के अनुसार स्वदेशी रूप से विकसित टीका 25,800 परीक्षणों में 77.8 प्रतिशत प्रभावी रहा।
ALSO READ:
Pfizer : कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में भारत को जल्द मिलने वाला है एक और हथियार

उन्होंने कहा कि कंपनी ने सप्ताहांत में भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) को कोवैक्सीन के तीसरे चरण के परीक्षण के आंकड़े सौंपे थे। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की कोविड-19 संबंधी विशेषज्ञ समिति (एसईसी) ने मंगलवार को आंकड़ों की समीक्षा की और इसे स्वीकार कर लिया। सूत्रों ने बताया कि उनकी सिफारिशें अब डीसीजीआई को भेजी गई हैं।


भारत बायोटेक के 23 जुलाई को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के साथ एक बैठक में भाग लेने की भी उम्मीद है। उसके बाद टीका कंपनी डब्ल्यूएचओ की आपातकालीन उपयोग सूची (ईयूएल) के करीब पहुंच सकेगी। डब्ल्यूएचओ के अनुसार टीको निर्माता को अपने टीके की समग्र गुणवत्ता का सार पेश करने का एक अवसर होगा।



और भी पढ़ें :