सरकार ने कहा- महाराष्ट्र समेत 3 राज्यों में वायरस के 2 नए वैरिएंट मिले, साउथ अफ्रीकी स्ट्रेन के अब तक 6 मामले सामने आए

Last Updated: मंगलवार, 23 फ़रवरी 2021 (23:25 IST)
नई दिल्ली। केंद्र ने मंगलवार को कहा कि और में एसएआरएस-सीओवी-2 के 2 नए प्रकार एन440के और ई484के सामने आए हैं लेकिन वर्तमान में यह मानने का कोई कारण नहीं है कि ये दोनों प्रकार राज्य में कुछ जिलों में मामलों में वृद्धि के लिए जिम्मेदार हैं।
नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वीके पॉल ने कहा कि देश में अब तक एसएआरएस-सीओवी-2 के ब्रिटेन में सामने आए प्रकार से 187 व्यक्ति संक्रमित पाए गए हैं जबकि 6 व्यक्तियों में दक्षिण अफ्रीका में सामने आए प्रकार से संक्रमित पाए गए हैं। इसके अलावा एक व्यक्ति ब्राजील में सामने आए नए प्रकार से संक्रमित पाया गया है।
पॉल ने कहा कि महाराष्ट्र में एसएआरएस-सीओवी-2 के दोनों प्रकार एन440के और ई484के सामने आए हैं। केरल और तेलंगाना में भी ये नए प्रकार सामने आए हैं। इसके अलावा तीन अन्य प्रकार- ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील मामले देश में हैं। हालांकि हमारे पास यह मानने का कोई कारण नहीं है कि ये महाराष्ट्र और केरल के कुछ जिलों में मामलों में वृद्धि के लिए जिम्मेदार हैं।
औरंगाबाद में आठ मार्च तक रात का कर्फ्यू : संक्रमण के पिछले कुछ दिनों में बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर में रात 11 से सुबह 6 बजे तक का कर्फ्यू लगा दिया गया है जो 8 मार्च तक जारी रहेगा। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी।
पुलिस आयुक्त निखिल गुप्ता ने बताया कि दिन में प्रशासनिक अधिकारियों की नागरिक निकाय एवं पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक हुई। उन्होंने बताया कि बताया कि इसके बाद यह निर्णय किया गया।

उन्होंने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र, मेडिकल एवं आपात सेवाओं तथा सार्वजनिक परिवहन को इससे छूट दी गई है। गौरतलब है कि औरंगाबाद जिले में मरीजों की संख्या 50 हजार के के करीब पहुंच रही है।
में 1 मार्च से पाबंदी : पंजाब सरकार ने कोविड-19 मामलों में वृद्धि को देखते हुए 1 मार्च से खुले स्थानों और भवनों के भीतर, दोनों तरह के आयोजनों में भाग लेने वाले लोगों की संख्या पर पाबंदी लगाने का मंगलवार को आदेश जारी किया और उपायुक्तों को जरूरत पड़ने पर संबंधित जिलों में कोविड-19 हॉटस्पॉट में रात्रिकालीन-कर्फ्यू लगाने के लिए अधिकृत किया।
एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि पंजाब में कोविड-19 स्थिति की समीक्षा बैठक करते हुए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने एक मार्च से भवन के भीतर होने वाले आयोजन के लिए 100 लोगों और खुले में होने वाले आयोजन में लोगों की संख्या 200 तक सीमित करने के आदेश जारी किए।
उन्होंने यह भी कहा कि चेहरे के मास्क और सामाजिक दूरी के मानदंडों को सख्ती से लागू किया जाए। यह कदम राज्य में कोरोना वायरस मामलों की संख्या में वृद्धि को लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच उठाया गया है। सिंह ने सभी डीसी को सूक्ष्म-नियंत्रण रणनीतियों को अपनाने और जरूरत पड़ने पर कोविड-19 हॉटस्पॉट में रात्रिकाली-कर्फ्यू लगाने के लिए अधिकृत किया और पुलिस को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि लोग मास्क पहनें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक मार्च के बाद सिनेमाघरों में दर्शकों की संख्या कम करने पर फैसला लिया जाएगा। पंजाब उन 5 राज्यों में शामिल है, जिन्हें केंद्र सरकार ने संक्रमण के बढ़ते मामलों को कम करने के लिए कड़ी निगरानी, ​​नियंत्रण पर फिर से ध्यान देने और आरटी-पीसीआर जांच की संख्या बढ़ाने के लिए कहा गया है। अन्य चार राज्य महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश हैं।



और भी पढ़ें :