भारत में सबसे पहले 1 करोड़ लोगों को लगेगा कोरोना टीका, योजना तैयार

पुनः संशोधित मंगलवार, 24 नवंबर 2020 (13:40 IST)
नई दिल्ली। वर्ष 2021 की शुरुआत में (Coronavirus Vaccine) आने की संभावनाओं के बीच अब प्राथमिकता के आधार सूची तैयार कर ली गई है, जिन्हें सबसे पहले वैक्सीन लगाई जाएगी। बताया जा रहा है कि सबसे पहले फ्रंट लाइन हैल्थ वर्करों को यह टीका मुहैया करवाया जाएगा।

इसके साथ ही अन्य फ्रंटलाइन कर्मियों, पुलिसकर्मियों, पैरामिलिट्री फोर्स और उम्रदराज लोगों को भी प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन उपलब्ध करवाई जाएगी। जानकारी के मुताबिक राज्यों के इनपुट्‍स के आधार पर एक्‍सपर्ट ग्रुप ने एक करोड़ लोगों की सूची तैयार की है, जिन्हें सबसे पहले वैक्सीन उपलब्ध करवाई जाएगी।

एक समाचार चैनल से बातचीत के दौरान केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि सबसे पहले हेल्थ वर्कर को वैक्सीन दी जाएगी। इनके बाद फ्रंट लाइन वर्कर, पुलिसकर्मी, पैरामिलिट्री फोर्स, 65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन उपलब्ध करवाई जाएगी।
इसके बाद 50 साल से ज्यादा उम्र वाले लोगों को कोरोना टीका लगाया जाएगा। माना जा रहा है कि भारत में जनवरी-फरवरी तक एक से अधिक कोरोना वैक्सीन उपलब्ध हो सकती हैं।
एक जानकारी के मुताबिक ऑक्‍सफोर्ड वैक्‍सीन के फेज 3 ट्रायल का एनरोलमेंट सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ने पूरा कर लिया है। इसके साथ ही भारत बायोटेक ने भी अपनी वैक्‍सीन Covaxin का फेज 3 का ट्रायल अभी शुरू किया है। पिछले दिनों हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को यह टीका लगाया गया था।
ऑक्सफोर्ड वैक्सीन की कीमत भी सबसे कम बताई जा रही है साथ ही इसका असर भी 90 प्रतिशत तक बताया जा रहा है। फाइजर, मॉडर्ना और स्पू‍तनिक V वैक्सीन तुलनात्मक रूप से काफी महंगी हैं।




और भी पढ़ें :