कोरोना वायरस क्‍या ‘मौसम का अपडेट’ है?

Last Updated: मंगलवार, 13 जुलाई 2021 (18:34 IST)
सरकार ने एक बार फि‍र से लोगों को चेताया है और कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर की बात लोगों के लिए सिर्फ मौसम का अपडेट है,

वे इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं।

सरकार ने इस बात पर जोर दिया कि देश के कई हिस्सों में कोरोना के नियमों की अनदेखी की जा रही है। ये वायरस को काबू में करने के लिए अब तक की मेहनत पर पानी फेर सकता है।

यह बात केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कही। उन्‍होंने कहा कि लोग कोरोना की तीसरी लहर की बात को मौसम के अपडेट की तरह ले रहे हैं। इसकी गंभीरता और इससे जुड़ी जिम्मेदारियों को लोग समझ नहीं रहे हैं। देश के कई हिस्सों में कोविड-उपयुक्त व्यवहार का घोर उल्लंघन देखा जा रहा है जो इसे काबू में करने के लिए अब तक की मेहनत पर पानी फेर सकता है।

लव अग्रवाल ने कहा, सभी से अनुरोध करना चाहते हैं कि जब हम कोरोना की तीसरी लहर के बारे में बात करते हैं, तो हम इसे मौसम के अपडेट के रूप में ले रहे हैं।

नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने कहा कि दुनिया आज कोरोना की तीसरी लहर का सामना कर रही है। भारत में इसे रोकने के लिए हमें मिलकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने आज साफ किया है कि तीसरी लहर कब आएगी इस पर चर्चा करने के बजाय हमें इस बात पर फोकस करना चाहिए कि कैसे इसे बचा जाए।



और भी पढ़ें :