Corona vaccine : मॉडर्ना के बाद अब इन 2 कंपनियों ने भी मांगी इमरजेंसी प्रयोग की अनुमति

पुनः संशोधित मंगलवार, 1 दिसंबर 2020 (21:09 IST)
बर्लिन। अमेरिकी दवा निर्माता कंपनी मॉडर्ना के बाद जर्मनी की दवा कंपनी बायोएनटेक (BioNTech) और उसकी साझेदार अमेरिकी दवा कंपनी (Pfizer) ने कहा है कि उन्होंने ‘यूरोपियन मेडिसिन्स एजेंसी’ के समक्ष के उनके टीके को मंजूरी के लिए एक आवेदन सौंपा है।
दोनों कंपनियों ने मंगलवार को कहा कि सोमवार को सौंपे गए आवेदन की समीक्षा प्रक्रिया को पूरा किया गया। उन्होंने इसे एजेंसी के समक्ष 6 अक्टूबर को शुरू किया था।
अमेरिका की दवा कंपनी मॉडर्ना ने अमेरिकी और यूरोपीय नियामकों से (covid-19)के अपने टीके का आपातकालीन उपयोग करने की अनुमति देने का अनुरोध किया है। प्रतिद्वद्वी कंपनी मॉडर्ना के इस अनुरोध के एक दिन इन कंपनियों ने यह कदम उठाया है।
बायोएनटेक ने कहा है कि टीके को वर्तमान में बीएनटी162बी2 नाम दिया गया है और यदि यह मंजूर हो जाता है तो यूरोप में इसका इस्तेमाल 2020 के अंत से पहले शुरू हो सकता है।
29 दिसंबर को बैठक : यूरोपीय मेडिसीन एजेंसी ने कहा कि वह 29 दिसंबर के यह तय करने के लिए बैठक बुलाएगी कि क्या फाइजर और बायोनटेक द्वारा विकसित कोविड-19 का संभावित टीका मंजूरी देने के लिए सुरक्षित और प्रभावी है अथवा नहीं। एजेंसी ने मंगलवार को कहा कि वह 12 जनवरी तक फैसला करेगी कि मॉडर्ना इंक द्वारा विकसित प्रायोगिक कोविड-19 टीके को मंजूरी दे या नहीं।
यूरोपीय संघ के दवा नियामक ने एक बयान में कहा कि मॉडर्ना इंक द्वारा मुहैया कराए गए प्रयोगशाला आंकड़ों के आधार पर पहले ही टीके की समीक्षा शुरू हो चुकी है और अब उस आंकड़े का आकलन कर रही है कि टीका कितने प्रभावी तरीके से रोग प्रतिरोधक क्षमता को सक्रिय करता है और यह यूरोप में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल के लिए पर्याप्त सुरक्षित है या नहीं।
एजेंसी ने कहा कि अगर गुणवत्ता, सुरक्षा और प्रभाव संबंधी निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए आंकड़े पर्याप्त हुए तो 12 जनवरी को होने वाली बैठक में टीके को मंजूरी दी जा सकती है। (भाषा)



और भी पढ़ें :