भारतीय नौसेना की ताकत में हुआ इजाफा, ब्रह्मोस की एंटीशिप वर्जन का सफल परीक्षण

पुनः संशोधित मंगलवार, 1 दिसंबर 2020 (20:27 IST)
नई दिल्ली। नौसेना ने युद्धपोतरोधी ब्रह्मोस (BrahMos) मिसाइल का मंगलवार को सफल परीक्षण किया। परीक्षण के दौरान मिसाइल ने नौसेना के एक पुराने और बेड़े से बाहर किए जा चुके युद्धपोत पर सटीक निशाना साधा।
ALSO READ:
कमल हासन बोले- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को करनी चाहिए किसानों से बात
ब्रह्मोस एक सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है जिसे रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) तथा रूस की कंपनी एनपीओएम ने संयुक्त रूप से विकसित किया है।

ब्रह्मोस ने युद्धपोतों को ध्वस्त करने और जमीन पर लक्ष्यों को निशाना बनाने की क्षमता हासिल कर तीनों सेनाओं के लिए उपयोगी हथियार के रूप में अपनी पहचान बनाई है।
ब्रह्मोस का पहला परीक्षण वर्ष 2001 में किया गया था और उसके बाद से अब तक इसके विभिन्न परीक्षण किए गए हैं जो युद्धपोतों और लड़ाकू विमानों से किए गए हैं। के अध्यक्ष डॉक्टर जी. सतीश रेड्डी ने के सफल परीक्षण के लिए नौसेना को बधाई दी है। (वार्ता)



और भी पढ़ें :