ममता ने मोदी को लिखी चिट्ठी- दुनिया से लें मदद, वैक्सीन बनाने के लिए बंगाल जमीन देने को तैयार

Last Updated: बुधवार, 12 मई 2021 (19:32 IST)
हमें फॉलो करें
कोलकाता। की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि उनकी सरकार कोविड-19 रोधी टीकों के विनिर्माण के लिए जमीन और जरूरी मदद उपलब्ध कराने को तैयार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे एक पत्र में बनर्जी ने यह भी कहा कि उदारता और अग्र-सक्रियता के साथ टीकों का आयात किया जाना चाहिए।
ALSO READ:

वैक्सीन पर केंद्र और राज्य आमने-सामने : मनीष सिसोदिया बोले- कोवैक्सीन की सप्लाई बंद, 100 टीकाकरण केंद्रों को बंद करना पड़ा
बनर्जी ने कहा कि देश में टीकों का उत्पादन पूरी तरह अपर्याप्त है...वैश्विक स्तर पर अब कई विनिर्माता हैं...प्रतिष्ठित और प्रामाणिक विनिर्माताओं की पहचान करना तथा विश्व के विभिन्न हिस्सों से उनसे टीकों का त्वरित आयात किया जाना संभव है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उदारता और अग्र-सक्रियता के साथ टीकों का आयात आज की परम आवश्यकता है।
उन्होंने कहा कि भारत में फ्रैंचाइजी अभियान शुरू करने के लिए विश्व के टीका विनिर्माताओं को भी प्रोत्साहित किया जा सकता है। तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने प्रधानमंत्री को लिखे अपने पत्र में कहा कि पश्चिम बंगाल में हम प्रामाणिक टीका विनिर्माण के लिए किसी भी उत्पादन/फ्रैंचाइजी अभियान के लिए जमीन और मदद उपलब्ध कराने को तैयार हैं।

टीके के लिए वैश्विक निविदा करें जारी : कई राज्यों द्वारा कोरोनावायरस प्रतिरक्षण टीके के लिए वैश्विक निविदाएं जारी किए जाने का जिक्र करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि बेहतर होता यदि केंद्र सरकार टीकों के लिए वैश्विक निविदा जारी करती।
गहलोत ने ट्वीट किया कि देश में कोरोना वायरस प्रतिरक्षण टीकों की कमी के कारण कई राज्य दूसरे देशों से वैक्सीन लेने के लिए वैश्विक निविदाएं जारी कर रहे हैं। बेहतर यह होता कि केन्द्र सरकार वैश्विक निविदा जारी करके टीके खरीदती व राज्यों में वितरण करती तथा बाद में इसका भुगतान राज्य सरकारों से ले लेती।

गहलोत के अनुसार हालांकि देशवासियों की मांग है कि अन्य टीकों की तरह इस घातक महामारी का टीका केन्द्र सरकार द्वारा पूरी तरह नि:शुल्क उपलब्ध करवाया जाए। इससे 'एकल खरीद' की व्यवस्था बनती जो सभी राज्यों के लिए बेहतर होती।
एक अन्य ट्वीट में गहलोत ने राज्य के अधिकारियों व कर्मचारियों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि वे जनहित में उचित फैसले लें, राज्य सरकार पूरी तरह से उनके साथ हैं।

गहलोत ने ट्वीट किया कि राजस्थान के सभी अधिकारी व कर्मचारी इस संकट की घड़ी में अच्छा काम कर रहे हैं। राजस्थान सरकार पूरी तरह उनके साथ खड़ी है। जनहित में उन्हें जो फैसला उचित लगे उसे लेने में बिल्कुल न घबराएं। मुख्यमंत्री ने लिखा कि हमारी प्राथमिकता जल्दी से जल्दी एवं अधिक से अधिक लोगों का कोरोना से बचाव करना है। (भाषा)



और भी पढ़ें :