इंदौर में Corona का कहर जारी, 120 नए मरीज सामने आए, 295 लोगों की मौत

वेबदुनिया न्यूज डेस्क| Last Updated: सोमवार, 20 जुलाई 2020 (01:19 IST)
इंदौर। के सबसे सुंदर शहर में कोरोना का कहर जारी है। तमाम कोशिशों के बाद भी लगातार (Coronavirus) के बढ़ते मरीजों की संख्या ने शहर की शांति छीन ली है। जो स्थितियां सामने आ रही हैं, वे बेहद डरावनी और भयावह है क्योंकि लगातार चौथे दिन शहर में 100 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए। 120 नए केस के बाद संक्रमितों की संख्या 6155 पर पहुंच गई है, जबकि 3 नई मौतों के बाद मरने वालों का आंकड़ा 295 हो गया।
इंदौर की जमीनी हकीकत : जमीनी हकीकत ये है प्रदेश सरकार को सबसे ज्यादा राजस्व देने वाले इंदौर शहर में काम धंधे पूरी तरह चौपट हो गए हैं। जिला प्रशासन के राइट और लेफ्ट दुकानों को खोलने से व्यापारी वर्ग नाराज है तो ठेलों पर सब्जी भाजी बेचने वालों को इंदौर नगर निगम की पीली गाड़ी किसी दैत्य से कम नजर नहीं आती क्योंकि कब वे आकर चालान काट दें, कोई नहीं जानता। अब इन्हें पुलिस से कम नगर निगम से ज्यादा डर लगता है।
सड़कों पर मरघट जैसा सन्नाटा : इंदौर में 19 जुलाई को रविवार को लगातार दूसरा लॉकडाउन खत्म हुआ। यह दूसरा रविवार था, जब सड़कों पर मरघट जैसा सन्नाटा पसरा रहा। जिन सड़कों पर शहर दौड़ता था, उन पर दूर-दूर तक वाहन दिखाई नहीं दिए। दिखाई दी तो सायरन बजाती एंबुलेंस और पुलिस की गाड़ियां। इंदौर के अमन पसंद लोग बहुत समझदार हैं और इसकी गंभीरता को देखते हुए वे छुट्‍टी वाले दिन अपने घरों में कैद रहे। यहां तक कि गलियां भी सूनी सूनी नजर आई।

शहर कब पुरानी रंगत में लौटेगा : यह समझ में नहीं आ रहा है कि कोरोना चैन को तोड़ने के लिए लगाए जा रहे 'रविवारीय लॉकडाउन' जिला प्रशासन की इतनी सख्ती के बाद भी इतनी बड़ी संख्या में नए मरीज कैसे सामने आ रहे हैं? हरेक की जुंबा पर यही सवाल है कि आखिर ये तबाही कब खत्म होगी? कब लोग खुली हवा में बिना मास्क के सांस लेंगे? कब बच्चों की चहचहाहट और मस्ती स्कूलों में नजर आएंगी? आखिर वो कौनसा दिन होगा, जब इंदौर अपनी पुरानी रंगत में लौटेगा? इन तमाम सवालों का जवाब किसी के पास नहीं है...
अस्पतालों में कम पड़ जाएंगे आईसीयू बैड : इंदौर की भयावह स्थिति इसलिए भी होती जा रही है क्योंकि बीते 11 दिनों में 1 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज सामने आए हैं। यदि अभी मामलों को संभाला नहीं गया तो हालात और बदतर हो जाएंगे। मोटे अनुमान के अनुसार इस वक्त इंदौर में केवल 2 हजार 200 ही आईसीयू बैड है और यदि कोरोना अपने पीक पर आ गया तो शहर में 4269 बैडों की जरूरत पड़ेगी। अब सवाल यह है कि आखिर इसका इंतजाम कैसे होगा?

इंदौर का कोरोना अपडेट : रविवार को इंदौर का कोरोना अपटेट यह है कि के बाद जान गंवाने वाले मरीजों की संख्या 295 पर पहुंची। 120 नए मामले आने के बाद संक्रमितों का आंकड़ा 6155 पर पहुंचा। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार 1867 टेस्ट की जांच में 1728 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। 1473 सैंपल प्राप्त हुए।

4292 मरीजों ने कोरोना को हराया : रविवार को शहर के विभिन्न अस्पतालों से 54 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया जबकि कुल स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 4292 हो गई। अब तक 1 लाख 20 हजार 324 सैंपलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है। विभिन्न अस्पतालों में फिलहाल 1568 कोरोना पॉजिटिव मरीज उपचाररत हैं। रविवार को संस्थागत क्वारेंटाइन (मैरेज गार्डन और हॉस्टल) से 33 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया। इन स्थानों से अब तक 4909 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।



और भी पढ़ें :